198 मेगावाट के पवन ऊर्जा संयंत्र राष्ट्र को समर्पित

198-mw-wind-power-plant-dedicated-to-nation
भुवनेश्वर.15 अप्रैल, केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने आज 198 मेगावाट क्षमता के पवन ऊर्जा संयंत्रों को राष्ट्र को समर्पित कर दिया। श्री गोयल ने नेशनल एल्युमिनियम कंपनी (नाल्को) के द्वारा निर्मित इन पवन ऊर्जा संयंत्रों को राष्ट्र को समर्पित किया। ये संयंत्र चार स्थानों पर स्थापित किये गये है। आंध्र प्रदेश के गंडीकोटा में 50.4 मेगावाट,लडवा (राजस्थान) में 47.6 मेगावाट,इसी राज्य के देवीकोट में 50 मेगावाट तथा महाराष्ट्र के जत में 50.4 मेगावाट के पवन ऊर्जा संयंत्रों का निर्माण नाल्को की ओर से किया गया है। नाल्को ने इस पर कुल 1350 करोड़ रुपये खर्च किये है। श्री गोयल ने इस अवसर पर कहा कि वह देश के सभी हिस्सों में 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने के लिए हर संभव उपाय कर रहे है। इसके साथ ही ऊर्जा संयंत्रों में कोयले की आपूर्ति को निर्बाध रूप से जारी किया जा रहा है और कोयले के उत्पादन में भी वृद्धि की जा रही है। उन्होंने कहा कि पवन ऊर्जा से स्वच्छ ऊर्जा की प्राप्ति होती है और इससे पर्यावरण प्रदूषण नहीं होता है। विश्व को अब हम अत्याधुनिक तकनीकी उपलब्ध कराना चाहते है और इस दिशा में देश की अनेक कंपनियां कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ओडिशा का समग्र विकास करना चाहती है और इसके लिए इस राज्य को तमाम सुविधाएं उपलब्ध कराने का प्रयास कर रही है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...