एमसीडी चुनाव में बिहार के जदयू मंत्री उड़ा रहे गरीबों का पैसा : नंदकिशोर यादव

bihar-minister-expending-bihar-mony-in-mcd-election-nand-kishore-yadav
पटना 21 अप्रैल, बिहार विधानसभा की लोकलेखा समिति के सभापति एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता नंदकिशोर यादव ने नीतीश सरकार पर जनता के हितों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुये आज कहा कि राज्य मंत्रिमंडल में शामिल सत्ताधारी महागठबंधन के घटक जनता दल यूनाईटेड (जदयू) के अधिसंख्य मंत्री दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव प्रचार के नाम पर जनता की गाढ़ी कमाई को अनावश्यक रूप से उड़ा रहे हैं। श्री यादव ने यहां कहा कि राज्य की नीतीश सरकार मंत्रिमंडल में शामिल जदयू के अधिसंख्य मंत्री एमसीडी के चुनाव प्रचार के नाम पर जनता की गाढ़ी कमाई उड़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन मंत्रियों को मालूम होना चाहिए कि दिल्ली की जनता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मुरीद हो चुकी है और वह किसी भी दल का खूंटा एमसीडी के चुनाव में नहीं गड़ने देगी।  भाजपा नेता ने कहा कि सरकार में शामिल जदयू कोटे के मंत्रियों को बिहार के हितों की कतई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि 20 अप्रैल 2017 को मंत्रिपरिषद् की बैठक में जदयू कोटे के अधिसंख्य मंत्रियों की अनुपस्थिति बताती है कि जनहित में होने वाले फैसलों के प्रति उनकी दिलचस्पी दिनों दिन घटती जा रही है। 


श्री यादव ने कहा कि मंत्रिमंडल में शामिल जदयू कोटे के 12 में से आठ मंत्री और पचास से अधिक विधायक एक सप्ताह से एमसीडी के चुनाव प्रचार के नाम पर दिल्ली में जमे हुये हैं। उन्होंने कहा कि उनकी मौज-मस्ती पर राज्य की गरीब जनता की कमाई का एक बड़ा हिस्सा अनावश्यक रूप से खर्च हो रहा है। भाजपा नेता ने कहा कि दिल्ली में जदयू का कोई जनाधार नहीं है। इस पार्टी का वहां न कोई सांसद है न विधायक और न ही संगठन। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पहले तो 272 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की लेकिन प्रत्याशी केवल 101 क्षेत्रों में ही उतारे। उन्होंने कहा कि श्री कुमार को मालूम होना चाहिए कि विधानसभा चुनाव में उनके चेहरे को दिल्ली की जनता खारिज कर चुकी है और उनके उम्मीदवारों की जमानत तक नहीं बच पाई थी। यही कारण है कि चुनाव प्रचार के मैदान से वह दूरी बनाये हुये हैं। श्री यादव ने कहा कि श्री कुमार के विश्वासघाती रवैये से जदयू के वरिष्ठ नेता शरद यादव तो पहले से ही किनारा थाम चुके हैं। कांग्रेस ने भी दूरी बना रखी है। राजद कोटे के मंत्रियों पर लगे आरोप से मुख्यमंत्री का कन्नी काटना स्पष्ट संकेत है कि एमसीडी के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पक्ष में चल रही तेज आंधी के आगे जदयू पूरी तरह उड़ जायेगा। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...