भारत की विकास दर 7.2 प्रतिशत रहेगी: आईएमएफ

india-growth-rate-7.2-imfनयी दिल्ली 18 अप्रैल, अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने वर्ष 2017 में भारत को दुनिया में सबसे तेज गति ने बढने वाला अर्थव्यवस्था बताते हुये आज कहा कि यह वैश्विक विकास के इंजन के रूप में काम करेगा और इस दौरान भारत की विकास दर 7.2 प्रतिशत रहेगी। आईएमएफ ने आज जारी अपनी वैश्विक आर्थिक परिदृश्य रिपोर्ट में कहा कि वर्ष 2016 में भारत की विकास दर 6.8 प्रतिशत रहेगी जो चालू वर्ष में बढ़कर 7.2 प्रतिशत और अगले वर्ष में 7.8 प्रतिशत पर पहुंच जायेगी। अाईएमएफ ने इससे पहले की अपनी रिपोर्ट में भी चालू वर्ष में भारत के 7.2 प्रतिशत की गति से बढ़ने का अनुमान लगाया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि भारत आपूर्ति से जुड़ी बाधाओं को दूर करते हुये उचित वित्तीय एवं मौद्रिक नीति अपनाता है और प्रमुख सुधारों को क्रियान्वित करता है तो आगे आठ फीसदी विकास दर हासिल कर सकता है। नोटबंदी का अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभावों के मद्देनजर आईएमएफ ने इस वर्ष जनवरी में जारी अपने अनुमान में भारत के विकास दर में 0.4 प्रतिशत की कटौती की थी। पहले इसके 7.6 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया गया था। नयी रिपोर्ट में उसने भारत में जारी ढांचागत सुधारों की सराहना करते हुये कहा कि इससे घरेलू विकास को गति मिलेगी जिससे वैश्विक अर्थव्यवस्था को बल मिलेगा। इस संगठन ने वर्ष 2017 में वैश्विक विकास 3.5 प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया है और वर्ष 2018 में इसके मामूली बढ़कर 3.6 प्रतिशत पर पहुंचने की संभावना जतायी है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...