आईसीसी बैठक में जाएंगे जौहरी-अमिताभ : कोर्ट

jauhri-amitabh-repersent-bcci-in-icc
नयी दिल्ली, 17 अप्रैल, सर्वाेच्च अदालत ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद(आईसीसी) की 24 अप्रैल को होने वाली बैठक में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) का प्रतिनिधित्व करने के लिये मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी और संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी को नियुक्त किया है। बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के दुबई में होने वाली आईसीसी की इस बैठक में बतौर भारतीय प्रतिनिधि उतरने की योजना थी और समझा जाता है कि बोर्ड एवं राज्य संघों के कई सदस्य इसके समर्थन में थे। लेकिन सोमवार को सर्वाेच्च अदालत ने श्रीनिवासन की उम्मीदों पर पानी फेरते हुये जौहरी और अमिताभ को बीसीसीआई का प्रतिनिधि नियुक्त कर दिया। सर्वाेच्च अदालत में न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता में न्यायामूर्ति एएम खानविलकर और न्यायामूर्ति डीवाई चंद्रचूण सिंह की खंडपीठ ने अपने निर्णय में कहा" अदालत निर्देश देती है कि आईसीसी की बैठक में अमिताभ चौधरी और राहुल जौहरी बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व करें।" इससे पहले बीसीसीआई ने नौ अप्रैल को अपनी विशेष आम बैठक बुलाई थी जिसमें इन नामों पर चर्चा होनी थी लेकिन इस बैठक में पूर्व अध्यक्ष एन श्रीनिवासन सहित कुछ अयोग्य अधिकारियों के पहुंचने के बाद इस बैठक को स्थगित कर दिया गया था। इस बैठक काे बीसीसीआई का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति(सीओए) ने बुलाया था। 


सीओए ने आईसीसी की बैठक में बीसीसीआई के प्रतिनिधियों और उसकी बैठक में अयोग्य अधिकारियों के हिस्सा लेने या नहीं लेने को लेकर सर्वोच्च अदालत ने निर्देश जारी करने के लिये कहा था। इस बैठक में श्रीनिवासन के अलावा निरंजन शाह, टीसी मैथ्यू, रंजीब बिस्वाल और जी गंगा राजू ने हिस्सा लिया था जिन्हें बीसीसीआई में लोढा समिति की सिफारिशों को लागू करने के बाद अयोग्य करार दिया गया है। ये अधिकारी 70 वर्ष से अधिक उम्र के हैं और इसके अलावा अन्य कई मानकों पर भी वे अयोग्य अधिकारी हैं। सर्वाेच्च अदालत ने 10 अप्रैल को कहा था कि जो व्यक्ति बीसीसीआई या राज्य क्रिकेट संघों में पदाधिकारी के पद के लिये अयोग्य करार दिये गये हों, आईसीसी की बैठक में हिस्सा नहीं ले सकते हैं। वहीं इस महीने की शुरूआत में सीओए ने सभी राज्य क्रिकेट संघों को यह सूचना दी थी कि आईसीसी की बैठक में भारतीय बोर्ड के प्रतिनिधि को चुनने के लिये सुप्रीम कोर्ट से अनुमति लेनी होगी। इससे पहले दो फरवरी को भी दुबई में हुई आईसीसी की बैठक में बोर्ड के संयुक्त सचिव अमिताभ ने बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व किया था और अब वह 24 अप्रैल को होने वाली बैठक में जौहरी के साथ बोर्ड का प्रतिनिधित्व करने के लिये मौजूद रहेंगे। गौरतलब है कि लोढा समिति की सिफारिशों के आधार पर श्रीनिवासन तीन अहम पहलूओं पर भारतीय बोर्ड का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकते हैं जिसमें उनकी 72 वर्ष की आयु, तमिलनाडु क्रिकेट संघ और बीसीसीआई में नौ वर्ष का कार्यकाल शामिल हैं। वहीं श्रीनिवासन अभी भी टीएनसीए के अध्यक्ष पद पर बने हुये हैं जो सर्वाेच्च अदालत के निर्देशों का भी उल्लंघन है।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...