नीतीश ने भाजपा, राजद के बीच जारी वाकयुद्ध पर टिप्पणी करने से इंकार किया

nitish-refuse-to-comment-on-rjd-bjp
पटना, 15 अप्रैल, राजद प्रमुख लालू प्रसाद के परिवार पर गलत ढंग से जमीन लिखवा लेने के भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी के आरोप के बाद जारी वाकयुद्ध पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। यहां एक कार्यक्रम के बाद पत्रकारों द्वारा इस बाबत पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कुछ भी बोलने से इंकार करते हुए कहा, ‘ज्यादा बोलने पर गला खराब हो जाता है।’ कार्यक्रम में शामिल उपमुख्यमंत्री और राजद प्रमुख के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव ने भी इस बारे में कोई भी टिप्पणी करने से इंकार करते हुए केवल इतना कहा कि राजद के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनोज झा इस बारे में सब कुछ कल ही मीडिया को बता चुके हैं और वही उनका जवाब है। हालांकि, मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने इस बाबत कोई भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने सुशील पर प्रहार करते हुए कहा कि वे किसी राजनीतिक एजेंडे के तहत इस तरह का आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक दिन राजनीतिक बयानबाजी करने के बजाय सुशील मोदी को संबंधित प्राधिकार के समक्ष अपनी बात रखनी चाहिए।चौधरी ने कहा कि हम सुशील मोदी द्वारा तय किए गए एजेंडे पर क्यों कार्य करें। बिहार की जनता के लिए काम करने के लिए हमारा अपना एजेंडा है। उन्होंने प्रदेश में सत्तासीन महागठबंधन :जदयू-राजद-कांग्रेस: में किसी प्रकार की दरार से इंकार करते हुए कहा कि इसमें चट्टानी एकता है। उल्लेखनीय है कि सुशील मोदी ने लालू प्रसाद परिवार पर गलत ढंग से लोगों से जमीन लिखवा लेने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से राजद के दोनों पुत्रों तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव को मंत्रिमंडल से बख्रास्त करने की मांग की है। इस बीच सुशील ने मनोज झा द्वारा उनकी पटना और राज्य के बाहर की संपत्ति को लेकर आरोप लगाए जाने को गलत ठहराते हुए आज कहा कि वे झा के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेंगे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...