सुशील मोदी ने केंद्रीय मंत्री से की जांच कराने की मांग

sushil-modi-demand-investigation-agaisnt-lalu
पटना 19 अप्रैल, बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधानमंडल दल के नेता एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के खिलाफ कथित मॉल-मिट्टी घोटाले को लेकर जारी हमले को आगे बढ़ाते हुये केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री अनिल दवे से संजय गांधी जैविक उद्यान में बिना आवश्यकता के मिट्टी भराई करने एवं चार फुट ऊंचा मार्ग निर्माण मामले की जांच कराने की मांग की है। श्री मोदी ने आज श्री दवे को लिखे पत्र में राजद अध्यक्ष के राजधानी पटना के सगुना मोड़ स्थित 700 करोड़ रुपये की लागत से निर्माणाधीन शॉपिंग माॅल की मिट्टी खपाने के लिए संजय गांधी जैविक उद्यान में बिना किसी आवश्यकता के ही 90 लाख रुपये की मिट्टी भराई एवं चार फुट ऊंचा पाथ वे (मार्ग) के निर्माण की शिकायत कर केन्द्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण की टीम से इसकी जांच कराने की मांग की है। भाजपा नेता ने पत्र में कहा कि चिड़ियाघर में पिछले तीन महीने में हर रात ट्रक से करीब 1000 ट्रिप लगाकर अभी तक पांच लाख घनफुट मिट्टी की ढुलाई की जा चुकी है जबकि स्थापित नियम के अनुसार वन्य प्राणी क्षेत्र में शाम से लेकर सुबह तक किसी भी तरह के निर्माण कार्य वर्जित है।


पूर्व उप मुख्यमंत्री ने पत्र में शिकायत की है कि संजय गांधी जैविक उद्यान में नियमों की अवहेलना करते हुये बिना किसी जरूरत के श्री यादव के माॅल की मिट्टी को खपाने के लिए पाथ वे का निर्माण किया गया है। इस पाथ वे का निर्माण केन्द्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण द्वारा स्वीकृत मास्टर प्लान को दरकिनार कर कराया गया है। उन्होंने कहा कि चार फुट ऊंचे तटबंध जैसे इस रास्ते के निर्माण से चिड़ियाघर का पूरा क्षेत्र न केवल अनेक भागों में बंट जायेगा बल्कि इसके अंदर के प्राकृतिक नाले भी अवरुद्ध हो जायेंगे तथा बरसात के दिनों में पूरा उद्यान झील में तब्दील हो जायेगा।  श्री मोदी ने कहा कि इस मिट्टी की कीमत बिहार वन्यप्राणी संरक्षण कोष से चुकायी गई जबकि 334.41 करोड़ रुपये से गठित संरक्षण कोष के ब्याज की राशि केवल वन्य प्राणियों के संरक्षण पर ही खर्च की जा सकती है। उन्होंने कहा कि 90 लाख रुपये की लागत से बन रहे इस रास्ते का निर्माण कार्य बिना टेंडर के कराया जा रहा है, जो नियम विरूद्ध है।  भाजपा नेता ने कहा कि चिड़ियाघर में मिट्टी भराई की कोई आवश्यकता नहीं थी फिर भी एक राजनेता के निर्माणाधीन माॅल की मिट्टी खपाने और उसे आर्थिक लाभ पहुंचाने के लिए ऐसा किया गया। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...