मधुबनी : दोहरे हत्याकांड में आठ नामजद गिरफ्तार।

  • हत्या के विरोध मॆ मधुबनी - रहीका मुख्य सड़क जाम ।

8arrest-in-madhubani-double-murder
मधुबनी (दिनेश सिंह) मधुबनी शहर से सटे एक किलोमीटर पश्चिम नगर थाना क्षेत्र के भच्छी उत्तरवारी टोला में शनिवार को घटी दोहरे हत्याकांड के विरोध मॆ ग्रामीणों ने सड़क जाम कर विरोध जताया । लगभग पाँच घंटे तक मधुबनी - रहीका मुख्य सड़क को जाम रखा । आक्रोशित लोगों ने विभिन्न मांगो के तहत नारे भी लगाये । प्रशासन को जाम हटाने मॆ  पाँच घंटा लग गया । वहीँ दोहरे हत्या कांड के आरोपियों मॆ तीन महिला समेत आठ लोगों को  नामजद अभियुक्त बना प्राथमिकी दर्ज की गई है । दर्ज प्राथमिकी में कालीकांत चौधरी , संज्ञान देवी,दोनो पति - पत्नी ,  पुत्र राहुल, रंजन, रोशन व किसन कुमार एवं पुत्री लक्ष्मी एवं आरती कुमारी को आरोपित बनाया गया हैं । पुलिस ने उक्त आरोपितों को घटित घटना के दिन रात को ही गिरफ्तार कर लिया था । प्राथमिकी राम बहादुर मुखिया के बयान पर रहीका थाना मॆ दर्ज की गई है , क्योंकि सभी आरोपित एवं घटनास्थल रहिका थाना क्षेत्र के भच्छी उत्तरवारी टोल मॆ पड़ता है । आरोपित कालीकांत चौधरी एवं रंजन कुमार का पूर्व से कई छोटे बड़े आपराधिक घटनाओं मॆ संलिप्तता रही है । इस सम्बन्ध में सदर एसडीपीओ कुमार इन्द्र प्रकाश ने बताया कि मामले में अनुसंधान जारी हैं , साथ ही आरोपितों के खिलाफ साक्ष्य को एकत्रित किया जा रहा हैं। उक्त आरोपितों का आपराधिक इतिहास को भी खंगाला जा रहा है । उन्होंने कहा कि स्पीडी ट्रायल के माध्यम से आरोपितों को सजा दिलाई जाएगी। वहीं दर्ज प्राथमिकी के अनुसार मृतक भोला मुखिया के पुत्र राम बहादुर मुखिया ने बताया  कि शनिवार को संध्या पूर्व उनका छोटा भाई प्रदीप बैल चराने के लिए गांव से पश्चिम नदी की ओर जा रहा था। इसी बीच जैसे ही कालीकांत चौधरी के घर के सामने से उनका भाई बैल लेकर गुजर रहा था कि आरोपित का कुत्ता प्रदीप को काटने के लिये दौड़ा । कुत्ता काट ना ले इसी डर से प्रदीप जमीन पर से ईंट का टूकड़ा उठाकर कुत्ता को मारा । इसी पर उक्त सभी आरोपितों ने प्रदीप को पकड़कर जानवरों के तरह पीट दिया । प्रदीप रोता हुआ घर आया और मारपीट की जानकारी अपने परिजनों को दी। जिसके तुरंत बाद ही उनके पिता भोला मुखिया एवं बहन आरती देवी , कालीकांत चौधरी के घर के मुख्य दरवाजा के सामने पहुंचा , ताकि वो इस बारे में बात करे की आखिर उनके पुत्र को क्यू पीटा गया । इसी बीच आरोपितों ने जबरन उन दोनों को घर के अंदर घसीट कर चाकू से गोदना शुरू कर दिया , साथ ही चाकू से गला रेतकर दोनों की हत्या कर शव को अपने घर से बाहर फेंक दिया एवं अंजान बनकर अपना दरवाजा बन्द कर लिया । पुलिस ने दोनों शव का पोस्टमार्टम कराकर अंतिम संस्कार हेतु परिजनों को सौंप दिया है । इधर सदर एसडीपीओ कुमार इन्द्र प्रकाश ने यह भी बताया कि सरकारी कार्य में बाधा डालने, सरकारी कर्मी पर हमला करने, आरोपितों को जलाने का प्रयास करने, साक्ष्य छुपाने एवं मिटाने का प्रयास करने के आरोप में एक अलग प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया की जा रही है। उपद्रवी तत्व किसी भी हाल में बख्शे नहीं जायेंगे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...