बिहार : इंटर परीक्षाफल गड़बड़ी पर ए॰आई॰एस॰एफ॰ ने निकाला आक्रोश मार्च,

बी॰एस॰ई॰बी॰ चेयरमैन का पुतला फूंका, राज्य के कई हिस्सों में सड़क पर उतरे छात्र, उग्र आंदोलन छेड़ने की चेतनावनी, शिक्षामंत्री के इस्तीफे की ए॰आई॰एस॰एफ॰ ने की मांग। कल भी जारी रहेगा प्रदर्शन, 2 जून को समिति कार्यालय का घेराव।



aisf-protest-for-inter-result-bihar
पटना, 31 मई, इटर परीक्षाफल मंे व्यापक पैमाने पर हुई गड़बड़ी के खिलाफ आज आॅल इण्डिया स्टूडेन्ट्स फेडरेशन ;।प्ैथ्द्ध के राज्यव्यापी आह्वान पर राज्य के कई हिस्सों में छात्र-छात्राएँ सड़क पर उतरे तथा शिक्षा मंत्री एवं बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष का पुतला फूंक अपने आक्रोश को जाहिर किया। परीक्षाफल में गड़बड़ी के खिलाफ ए॰आई॰एस॰एफ॰ ने दो दिवसीय विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है। आज पहले दिन इंटर उत्तरपुस्तिकाओं के पुनर्मूल्यांकन की मांग को लेकर पटना, बेगूसराय, छपरा, दरभंगा, कई जिलों मंे ए॰आई॰एस॰एफ॰ के छात्र सड़क पर उतरे। पटना में आज पटना वि॰वि॰ गेट से ए॰आई॰एस॰एफ॰ के छात्रों ने आक्रोश मार्च निकाला। जो अशाोक राजपथ में पी॰एम॰सी॰एच॰, बी॰एन॰ काॅलेज होत हुए गांधी मैदान के समीप स्थित शहीद भगत सिंह चैक पहुंचा। शहीद भगत सिंह चैक पर परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर का पुतला दहन कर छात्रों ने आक्रोश जाहिर किया। चिलिचिलाती धूप में छात्रों के चेहरे गुस्से से तमतमाया हुआ था। पुतला दहन के पश्चात् सभा को संबोधित करते हुए ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य सचिव सुशील कुमार ने कहा कि इंटर परीक्षाफल मंे व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी राज्य के छात्र-छात्राओं के साथ क्रूरतम मजाक है। सरकार व परीक्षा समिति जिस बेशर्मी से इसे जायज ठहराने पर तुली है वह गैर जिम्मेदाराना है। इंटर उत्तर पुस्तिकाओं की पुनर्मूल्यांकन की मांग करते हुए कहा कि शिक्षामंत्री के बयान को यदि सही माना जाए तो उन्हें नैतिकता के आधार पर इस्तिफा दे देना चाहिए। आनन-फानन में जैसे-तैसे उत्तरपुस्तिकाओ का मूल्यांकन कराया गया है। वित्तरहित व माध्यमिक स्कूलों के शिक्षकों ने मूल्यांकन बहिष्कार किया था और समिति व सरकार ने मिडिल स्कूल, प्राइमरी स्कूल एवं प्राइवेट स्कूल के शिक्षकों से मूल्यांकन कराया है। 2 जून को परीक्षा समिति के घेराव की चेतावनी देते हुए कल 1 जून को भी राज्य के विभिन्न हिस्सों में सड़क पर उतर प्रदर्शन जारी रखने की बात कही। राज्य उपाध्यक्ष सुशील उमाराज ने कहा कि लालकेश्वर- परमेश्वर की कोटि के लोग अभी भी सरकार के दुलारे बने हुए हैं। राज्य सरकार निजी स्कूलों के उद्योग को पसारने के लिए बिहार बोर्ड के रिजल्ट को गड़बड़ की है। इसी राज्य में दूसरे बोर्ड के छात्रों का जितना शानदार रिजल्ट आया है वह गौर करने लायक है। अध्यक्षता मीर सैफ ने की।

मौके पर मौजूद प्रतियोगी परीक्षार्थी संघ के राज्य संयोजक सुभाष पासवान ने कहा कि इंटर परीक्षाफल में व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी हुई है। छात्र-छात्राओं के भविष्य अंधकार में चला गया है। लगातार छात्र-छात्राओं पर बिहार सरकार शोषण करते जा रहा है। मेधावी छात्र-छात्राओं के साथ धोखा हो रहा है। हम इसे बरदाश्त नहीं करेंगे। सभा को ए॰आई॰एस॰एफ॰ के राज्य सचिव रंजीत पंडित, राज्य परिषद् सदस्य संदीप कुमार, राज कपूर, अतुल बिहारी मिश्रा, विकास सिंह, प्रशांत कुमार, चंदन कुमार गिरि, श्याम कुमार, आदित्य कुमार, प्रशांत राज, राहुल कुमार ने भी संबोधित किया।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...