गुजरात में प्रशांत किशोर की भूमिका को लेकर कांग्रेस नेताओं में मतभेद

diffrences-in-congress-for-prashant-kishor
अहमदाबाद, 15 मई, राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृहराज्य गुजरात में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के सलाहकार के तौर पर रखने को लेकर पार्टी के दो दिग्गज नेताओं में ही कथित तौर पर ठन गयी है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, पूर्व केंद्रीय कपडा मंत्री तथा पूर्व मुख्यमंत्री शंकरसिंह वाघेला ने आज पत्रकारों से बातचीत में श्री किशोर को पार्टी का चुनावी सलाहकार बनाने का एक बार फिर समर्थन किया जबकि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भारतसिंह सोलंकी ने पार्टी के सोशल मीडिया प्रकोष्ठ के कार्यक्रम के दौरान श्री किशोर को गैरजरूरी बताया था। श्री वाघेला ने आज कहा कि प्रशांत किशोर एक सलाहकार के तौर पर निष्पक्ष जमीनी रिपोर्ट दे सकते है जबकि पार्टी नेताओं से पूरी तरह निष्पक्ष रिपोर्ट की उम्मीद नहीं की जा सकती। उन्होंने हालांकि कहा कि श्री किशोर की सेवा लेने अथवा नहीं लेने का निर्णय आलाकमान को ही करना है। उधर श्री सोलंकी ने कहा था कि श्री किशोर की पार्टी को जरूरत नहीं है। इसके कार्यकर्ता उनसे अधिक समझ रखते हैं। ज्ञातव्य है कि पिछले लोकसभा चुनाव में श्री मोदी तथा भाजपा के रणनीतिकारों में शुमार रहे श्री किशाेर ने बाद में भाजपा से नाता तोड लिया था। बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा विरोधी गठबंधन की जीत में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका मानी जाती है जबकि पंजाब में भी कांग्रेस के वह सलाहकार थे। हालांकि उत्तर प्रदेश में उनकी सलाह के बावजूद कांग्रेस सपा गठबंधन की करारी हार को लेकर उन पर सवाल भी उठे थे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...