विकास की प्रतीक्षा में खड़े अंतिम व्यक्ति तक के चेहरों पर मुस्कुराहट होनी चाहिए-आयुक्त

हमें संवेदनशील होकर दिव्यांगों के पास पहुंचना होगा, उनके प्रमाण पत्र बनाने होंगे। सड़क निर्माण की गुणवत्ता को बनाए रखना होगा अन्यथा कार्रवाई होगी। फोकस एरिया में विशेष रूप से गव्य पालन को बढ़ावा दिया जाना चाहिये।




dumka-development-ddc-dumka
दुमका, अमरेन्द्र सुमन ! फोकस एरिया पर खुद को फोकस कर लें। लोकतंत्र की यह सबसे बड़ी चुनौती है कि विकास की प्रतीक्षा में खड़े अंतिम व्यक्ति के चेहरे पर मुस्कुराहट लायी जा सके। उप राजधानी दुमका के काठीकुण्ड प्रखण्ड अन्तर्गत नारगंज मंे तीन प्रखंडों के कुल छह पंचायतों के सोलह गांवों में चल रहे फोकस एरिया विकास योजना कार्यान्वयन व प्रगति की समीक्षा करते हुए दिन शनिवार (27 मई 2017) को आयुक्त संपप्र, दुमका ने उपरोक्त बातें कही। अनुमंडल पदाधिकारी दुमका को निदेश देते हुए आयुक्त ने कहा कि अपने नेतृत्व में वे फोकस एरिया के पंचायतों में हेल्थ कैम्प का आयोजन व दिव्यांगों को प्रमाण पत्र निर्गत करवाएँ। उन्होनें कहा दिव्यांगों से यह उम्मीद करना कि वे मुख्यालय पहुँचकर अपना प्रमाण पत्र बनवाएँ, बेईमानी होगी। उन्होनें कहा हमें संवेदनशील होकर दिव्यांगों के पास पहुंचना होगा और उनके प्रमाण पत्र बनाने होंगे। झारखण्ड की मुख्य सचिव राजबाला वर्मा व पुलिस महानिदेशक डी के पाण्डेय को समीक्षा बैठक में उपस्थित होना था, किन्तु रांची-दुमका के बीच मौसम की खराबी के कारण मुख्य सचिव व डीजीपी को हवाई मार्ग से ही मध्य रास्ते से वापस लौट जाना पड़ा। ऐसी स्थिति में मुख्य सचिव ने आयुक्त व डीआईजी संताल परगना प्रमण्डल को बैठक के लिए अधिकृत करते हुए फोकस एरिया के लिये निर्धारित 30 विन्दुओं पर विशेष रूप से कार्य प्रगति के लिए अधिकारियों की तत्परता पर बल देने का निदेश आयुक्त को दिया। समीक्षा बैठक में आयुक्त ने कहा कि काठीकुण्ड-नारगंज के बीच की सड़कों को बनाने वाला चाहे इरकाॅन ही क्यों न हो, सड़क निर्माण की गुणवत्ता को बनाये रखना होगा अन्यथा कार्रवाई होगी। आयुक्त ने कहा फोकस एरिया के सभी पंचायतों को सड़कों से जोड़ें तथा इनपर विशेष ध्यान दिया जाय। फोकस एरिया के किसानों को समय पर बीज प्राप्त हो ध्यान में रखना होगा। ऐसा न हो कि केवल खानापूरी की जाए। जिला भूमि संरक्षण विभाग द्वारा पिछले पांच वर्षों में इन क्षेत्रों में बनाये गये तालाबों व चेक डैम के सर्वेक्षण का आदेश आयुक्त व उपायुक्त ने जिला मत्स्य पदाधिकारी को दिया। आयुक्त ने कहा कि इन क्षेत्रों में विशेष रूप से गव्य पालन को बढ़ावा दिया जाना चाहिये। तसर के उत्पादन में दुमका अग्रणी है। काठीकुण्ड इसमें सबसे आगे है। नारगंज में भी इसके समेकित विकास को बढ़ावा दिया जाना चाहिये। कौशल विकास के तहत 173 युवाओं को चिन्हित कर 133 को प्रशिक्षित किया गया है। उपायुक्त ने इन्हें रोजगार से जोड़ने तथा बैंक के माध्यम से प्रधानमंत्री मुद्रा योजना अथवा स्टार्टअप के तहत ऋण दिये जाने की बात कही। समीक्षा बैठक का संचालन व उपलब्धियों एवं कार्ययोजना के बारे में उपायुक्त ने जानकारी दी। उन्होंने कहा काठीकुण्ड के नारगंज पुलिस कैम्प के दायरे में बिछिया पहाड़ी पंचायत के मझिला सरूवापानी व सरूवापानी, आसनपहाड़ी पंचायत के धनकुट्टा, बड़ाचापुड़िया पंचायत के आमगाछी तथा काठीकुण्ड के जमनी पुलिस कैम्प के बिछियापहाड़ी पंचायत के चैधर, आमतल्ला, जमनी व तालपहाड़ी में फोकस एरिया विकास कार्यक्रम चल रहा है। गोपीकान्दर के सिलंगी पुलिस कैम्प के ओड़मों पंचायत के चुजो, खटंगी, महुलडाबर एवं खटगांव तथा रामगढ़ प्रखंड के डाडो पुलिस कैम्प के डाडो पंचायत के केन्दुआ व महुआपाथर तथा गोड्डा जिले का दामोडीह गांव में फोकस एरिया विकास योजना के तहत विकास के कार्य किये जा रहे हैं। इन क्षेत्रों में जिला प्रशासन के द्वारा प्रभावी जनसंवाद व रात्रि विश्राम भी किया गया है। विद्यालयों, आंगनबाड़ी केन्द्रों, स्वास्थ्य उप केन्द्रों के साथ रोजगार सेवक, कृषक मित्र, दुग्ध मित्र, आर्या, सखी मंडल, स्वयं सेवक, तथा मेट जैसे पदों पर रिक्तियों को भरा गया है तथा कई मामलों में कार्रवाई की जा रही है। इन गांवों में विकास के लिए विकास दूतों का चयन किया गया है। दो नये जन वितरण प्रणाली दुकान की आवश्यकता है इसे जल्द ही पूरा कर लिया जायेगा। समीक्षा बैठक के उपरांत एक जनसभा के माध्यम से सभी अधिकारी ग्रामीणों से मिले तथा उनके साथ बैठकर खिचड़ी सह भोज में भाग लिया। जनसभा में आयुक्त दिनेश चन्द्र मिश्र ने कहा कि हम संकल्प कर लें और प्रतिबद्ध प्रयास करें तो हमें अपने मंजिल तक पहुंचने से कोई रोक नहीं सकता। कोई दिगभ्रमित कर राह से भटका नहीं सकता। डीआईजी अखिलेश कुमार झा ने कहा कि नारगंज के लिए यह ऐतिहासिक दिन है। एक वर्ष पूर्व जो चेहरे सहमे हुए थे वे आज हौसले व उत्साह के साथ दमक रहे हैं। उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने कहा कि विकास एक सतत प्रक्रिया है। सब के सहयोग व साझे प्रयास की जरूरत है। अवसर आ गया है कि ग्रामीण अपनी शक्ति को पहचाने व गरीबी छोड़कर समृद्धि की ओर चल पड़ें। इस अवसर पर कालाझार, अस्ताजोड़ा व कदमा पंचायत के मुखिया को जीरो ड्राॅप आउट के लिए सम्मानित किया गया। आयुक्त व डीआईजी ने काठीकुण्ड एवं रामगढ़ के कस्तुरबा आवासीय विद्यालयांे में फोकस एरिया के ड्राॅप आउट बच्चियों का नामांकन किया तथा इन्हें स्कूल बैग भी प्रदान किया। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत अस्ताजोड़ा पंचायत के आशियाना खातून का,े मुख्यमंत्री लाडली योजना के तहत अन्नुप्रिया कुमारी को चेक व प्रमाण पत्र दिया गया। महिला स्वयं सहायता समूहों में ब्यूटी महिला मंडल व सूर्यमुखी महिला मंडल को 15-15 हजार रुपये की चक्रीय निधि का चेक व कियाफूल महिला मंडल को 50 हजार रुपये का बैंक लिंकेज प्रदान किया गया। राज्य सामाजिक सुरक्षा पेंशन के तहत अनंत मरांडी, मुनी किस्कू, बाबूराम हांसदा, चंादमुनी देवी, बिटिया किस्कू, लीलमुनी मरांडी व परम राय को पेंशन स्वीकृति का आदेश दिया गया। राष्ट्रीय परिवार लाभ योजना के तहत पानमती सोरेन, रजीदा बीबी, बीबी ओएसा, बड़की हांसदा, शंकरी देवी, नाचोन सोरेन, शंकरी देवी को 10-10 हजार रुपये की राशि दी गई। कृषि विभाग के तहत तेलहन विकास योजना अन्तर्गत सोयाबीन के बीज छोटा मानसिंह सोरेन, मुरली सोरेन, चरण सोरेन, सोमलाल मरांडी व मूंगफली के बीज बड़ा मानसिंह सोरेन, नोरेन सोरेन, मिकाईल सोरेन, सनातन मुर्मू, बजल मुर्मू, ब्रेंथियुस सोरेन को दिया गया। कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक मयूर पटेल, एसएसबी कमांडेंट सुजीत, उप विकास आयुक्त शशिरंजन, डीएफओ डा अभिषेक, अनुमंडल पदाधिकारी जयप्रकाश झा, उपनिदेशक जनसम्पर्क अजय नाथ झा, क्षेत्रीय शिक्षा उप निदेशक अशोक कुमार शर्मा, निदेशक डीआरडीए दिलेश्वर महतो, निदेशक आईटीडीए शिशिर कुमार सिन्हा, जिला शिक्षा पदाधिकारी धर्मदेव राय, जिला शिक्षा अधीक्षक अरूण कुमार, नजारत उप समाहर्ता डा सुदेश कुमार सिन्हा, सिंहासन कुमारी, बीडीओ अमित कुमार, सीओ चंदन कुमार सिंह, चन्द्रशेखर पाण्डेय, पवन पाण्डेय, नागेन्द्र तिवारी, कौशिक कुमार सिंह व बड़ी संख्या में विभिन्न विभागांे के पदाधिकारी, हजारों की संख्या में ग्रामीण, कलादल के सदस्य, मीडिया के प्रतिनिधि उपस्थित थे। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...