कपिल और सुनीता केजरीवाल के बीच ट्विटर पर वाकयुद्ध

kapil-sharma-sunita-kejriwal-tweet-war
नयी दिल्ली, 15 मई, अरविंद केजरीवाल सरकार से हटाये गये श्री कपिल मिश्रा और आम आदमी पार्टी(आप) के बीच तीखे शब्दों का आदान-प्रदान लगातार जारी है। इस बार मुख्यमंत्री की पत्नी सुनीता केजरीवाल और श्री मिश्रा ने ट्विटर पर व्यंग्य बाणों से एक-दूसरे पर प्रहार किये हैं। भारतीय राजस्व सेवा की पूर्व अधिकारी सुनीता ने श्री मिश्रा द्वारा उनके पति श्री केजरीवाल पर लगाये गये आरोपों को विश्वासघाती और झूठा करार दिया है। उन्होंने लिखा है,“ प्रकृति का न्याय कभी गलत नहीं होता है,विश्वासघात और झूठे आरोपों के बीज बोये जायेंगे तो हालात इसी तरह ही होंगे।” श्री मिश्रा ने भी श्रीमती केजरीवाल के ट्वीट के बदले में कई ट्वीट किये हैं। उन्होंने लिखा है,“ सुनीता केजरीवाल साधना में रत पत्नी हैं, उन्हें अंदाजा भी नहीं है कि उन्हीं के घर में कैसे-कैसे कुचक्र रचे जाते हैं। वह अपना धर्म निभा रही हैं। सुनीता केजरीवाल जी सच से अनजान हैं। वह अपने पति के पतन से परेशान हैं। उनकी हर गाली सिरमाथे। उनके खिलाफ कभी कुछ नहीं कहूंगा।” पूर्व मंत्री के ट्वीट पर श्रीमती केजरीवाल ने लिखा है,“ मैं कोई गवांर घूंघट में रहने वाली महिला नहीं हूं। अपने दम पर आई आर एस बनी हूं। आई आर एस होने के नाते मुझे सब समझ में आता है। आपकी राजनीति भी समझ में आती है।” श्री मिश्रा ने एक ट्वीट में लिखा है,“सर सुनीता जी का फोन उन्हें वापस दे दो।” दोनों के बीच ट्वीटर पर यह हमला यही नहीं रुका। पूर्व आई आर एस अधिकारी ने लिखा,“अब आप सीमा से बाहर जा रहे हैं। इस समय हमारे निजी जीवन को मत घसीटे।” एक अन्य ट्वीट में श्रीमती सुनीता ने लिखा,“पांच मई को आप कब घर आये, मुझे पता नहीं चला अन्यथा मैं हमेंशा की तरह आपको चाय पिलाती।” गौरतलब है कि श्री मिश्रा ने मुख्यमंत्री पर ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन से दो करोड़ रुपये लेने का आरोप लगाया है। श्री मिश्रा को मंत्रिमंडल से हटाये जाने के अलावा पार्टी ने निलंबित भी कर दिया है। श्री मिश्रा ने कल कुछ दस्तावेज मीडिया के समक्ष पेश कर श्री केजरीवाल और आप पार्टी को मिले चंदे की गलत जानकारी देने जैसे गंभीर आरोप लगाये हैं। पूर्व मंत्री पिछले पांच दिन से आप नेताओं के विदेशी दौरों को सार्वजनिक किये जाने की मांग को लेकर अपने निवास पर अनशन पर बैठे थे। वह संवाददाता सम्मेलन में कथित सबूतों की जानकारी देते हुये अचेत हो गये थे उन्हें बाद में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल में भर्ती श्री मिश्रा ने आज कहा है कि उन्हें जैसे ही छुट्टी दी जायेगी वह सबूतों के साथ केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड(सीबीडीटी)में शिकायत दर्ज करायेंगे। वह दिल्ली सरकार की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) में भी अपना बयान दर्ज करा चुके हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...