श्रीलंका में बाढ़ राहत कार्यों में जुटी भारतीय नौसेना की टीम, मरने वालों की संख्या 193 हुई

lanka-flood-toll-reaches-193
कोलंबो, 30 मई, श्रीलंका में वर्ष 2003 के बाद की सबसे भीषण बाढ़ में मरने वालों की संख्या बढ़कर आज 193 हो गयी। वहीं भारतीय नौसेना की गोताखोरी और मेडिकल टीम बचाव कार्यों में वहां के अधिकारियों के साथ जुड़ गयी है। आपदा प्रबधंन केंद्र :डीएमसी: ने कहा कि मौसम की विपरीत परिस्थितियों के कारण 112 लोग घायल हुए है और करीब छह लाख लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है। वहीं हजारों लोग को बाढ़ और भूस्खलन के कारण अवसंरचनात्मक ढांचे को हुए नुकसान का सामना करना पड़ा है। मौसम साफ होने लगा है और सप्ताहांत में घर छोड़कर जाने को मजबूर करीब दस लाख लोगों में से कई अपने घर लौट आए हैं। उन्होंने अपने जलभराव वाले घरों से मलबे और कीचड़ साफ करना शुरू कर दिया है। करीब 80,000 लोग अब भी राहत शिविरों में रह रहे हैं क्योंकि उनका घर पूरी तरह से बर्बाद हो चुका है या अब तक पहुंच से बाहर है। भारतीय नौसेना के 300 से अधिक कर्मियों का दल राहत और बचाव कार्यों में मदद कर रहा है। गोताखोर पानी में तलाशी अभियान में हिस्सा ले रहे हैं वहीं चिकित्सा दल शिविरों में मरीजों को देख रहे हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...