मोदी ने चिकित्सीय उपकरणों को स्वदेश में बनाने का किया आह्वान

modi-call-make-in-india-in-health
मुंबई, 25 मई , प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीबों को सस्ता इलाज मुहैया कराने की जररत पर जोर देते हुए आयात पर निर्भरता कम करने के लिए चिकित्सा उपकरणों को देश में बनाने के लिए स्टार्ट अप शुरू करने का आज आह्वान किया। टाटा मेमोरियल सेंटर के सामाजिक सेवा के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर एक पुस्तक का विमोचन करने के बाद मोदी ने कहा, ‘‘हर साल 10 लाख से ज्यादा लोगों को कैंसर होता है और बीमारी से हर साल करीब 6.5 लाख लोग मर जाते हैं। कैंसर पर शोध के लिए अंतरराष्ट्रीय एजेंसी ने आशंका जताई है कि ये आंकड़ें केवल 30 वषरें में दोगुने हो जाएंगे।’’ वह मुंबई में आयोजित कार्यक्रम को नयी दिल्ली से वीडियो कान्फ्रेंस के जरिए संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 70 फीसदी चिकित्सा उपकरण विदेशों से आयात किए जाते हैं जिससे इलाज काफी महंगा पड़ता है। उन्होंने कहा, ‘‘इस स्थिति को बदला जाना चाहिए क्योंकि इससे इलाज महंगा पड़ता है।’’ मोदी ने कहा, ‘‘मैं स्टार्ट अप उद्योग को आगे आने और इस पर शोध करने की अपील करता हूं कि चिकित्सीय उपकरणों को कैसे स्वदेश में बनाया जा सकता है। हम चाहते हैं कि यंत्रों को यहां बनाया जाए ताकि मरीजों को फायदा हो।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार का उद्देश्य गरीबों और जररतमंदों को सबसे सस्ती और अच्छी स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना है तथा इसलिए वह 15 वर्ष की अवधि के बाद समग्र नजरिए के साथ राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति लेकर आई है।’’

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...