एवरेस्ट फतह करने वाली देश की पहली कंपनी बनी ओएनजीसी

ongc-reach-evrest
काठमांडू ,27 मई, तेल एवं गैस क्षेत्र की देश की सबसे बड़ी सरकारी कंपनी ओएनजीसी के चार में से तीन कर्मचारियों ने विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट शिखर को शनिवार को पार कर लिया। इसी के साथ ही ओएजीसी एवरेस्ट फतह करने वाली देश की पहली कंपनी भी बन गयी। ओएनजीसी के तीन कर्मचारियों योगेन्दर गरबियाल ,एन जागोई और राहुल जार्नगल ने इतिहास रचते हुए पद्मश्री अवार्डी लोवराज सिंह धर्मशक्तू के दिशा निर्देशन में एवरेस्ट (8848 मीटर) की ऊंचाई लांघ ली। तेल मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट कर ओएनजीसी टीम को बधाई दी है। श्री प्रधान ने अपने बधाई संदेश में कहा,“ आप सभी तीनों को आपकी शानदार उपलब्धि के लिये तहेदिल से बधाई। योगेन्दर ,एन जागोई और राहुल आप तीनों पर हमें गर्व है। ” ओएनजीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक दिनेश के सर्राफ ने कहा,“ यह कंपनी के लिये बेहद गौरवशाली क्षण है कि कंपनी के तीन अधिकारियों ने विश्व की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट को पार की है। यह दिखाता है कि दृढ़ निश्चय ,साहस और सुनियोजित टीमवर्क के साथ काम किया जाये तो बड़ा लक्ष्य भी पाया जा सकता है। मुझे पूरी उम्मीद है कि हम आगे भी इसी तरह जीत की राह में अग्रसर रहेंगे। ” योगेन्दर और लोवराज एवरेस्ट के शिखर पर सुबह छह बजकर 10 मिनट पर पहुंचे जबकि राहुल और जाओगी ने पौने आठ बजे लक्ष्य हासिल किया। उल्लेखनीय है कि तेल मंत्री ने 27 मार्च को ओएनजीसी के 12 सदस्यीय दल को एवरेस्ट अभियान के लिये हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...