आईटी उद्योग में रोजगार के अपार अवसर: रविशंकर प्रसाद

oppertunity-in-it-ravishankar-prasad
नयी दिल्ली 23 मई, इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आईटी क्षेत्र में बड़े पैमाने पर छंटनी की खबरों से इंकार करते हुये आज कहा कि भारतीय आईटी और इससे जुड़े क्षेत्रों में रोजगार की अपार संभावना है और यह भविष्य के लिए सकारात्मक है। श्री प्रसाद ने अपने मंत्रालय की तीन वर्ष की उपलब्धियों पर चर्चा के दौरान संवाददाताओं से चर्चा में आईटी उद्योग में बड़े पैमाने पर छंटनी किये जाने की खबरों को पूरी तरह निराधार बताते हुये कहा कि भारतीय आईटी कंपनियां अभी दुनिया की 500 बड़ी कंपनियों में से दो तिहाई को अपनी सेवायें दे रही हैं और इस क्षेत्र में करीब 40 लाख लोगों को रोजगार मिला हुआ है। इसके साथ ही 1.3 करोड़ अप्रत्यक्ष रोजगार मिला हुआ है। भारतीय आईटी कंपनियां दुनिया के 80 देशों के 200 शहरों में मौजूद हैं। उन्होंने कहा कि देश की डिजिटल अर्थव्यवस्था तेजी सें बढ़ रही है और अगले पांच से सात वर्षाें में इसके बढ़कर एक लाख करोड़ डॉलर अर्था 600 लाख करोड़ रुपये पर पहुंचने का अनुमान है। आईटी कंपनियों के शीर्ष संगठन नास्कॉम के अनुमानों का उल्लेख करते हुये उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 में आईटी उद्योग में 1.70 लाख नये रोजगार के अवसर सृजित होंगें। उन्होंने कहा कि नास्कॉम ने भी बड़े पैमाने पर छंटनी की बात से इंकार किया है और इस उद्योग ने पिछले तीन वर्षाें में छह लाख लोगों को रोजगार दिया है। उन्होंने कहा कि भारतीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र की स्टार्टअप कंपनियां भी रोजगार के अवसर सृजित कर रही हैं। पिछले वर्ष इस क्षेत्र में करीब एक लाख लोगों को रोजगार मिला था। इसके साथ ही कॉमन सर्विस सेंटरों ने स्थानीय स्तर पर 10 लाख रोजगार के अवसर सृजित किये हैं। इन सेंटरों पर करीब 34 हजार महिलायें काम कर रही है। वर्ष 2014 में देश में 83 हजार ये केन्द्र थे जिनकी संख्या इस वर्ष मार्च में बढ़कर 2.5 लाख पर पहुंच गयी है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...