लालू परिवार की बेनामी संपत्ति का प्रमाण है राजेश अग्रवाल की गिरफ्तारी : सुशील मोदी

proof-against-lalu-corruption-sushil-modi
पटना 23 मई, बिहार भारतीय जनता पार्टी(भाजपा)विधानमंडल दल के नेता एवं पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव एवं उनके परिवार के पास अकूत बेनामी संपत्ति होने के आरोपों की कड़ी को आगे बढ़ाते हुये आज कहा कि श्री यादव की सांसद पुत्री मीसा भारती की कंपनी के चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) राजेश अग्रवाल की गिरफ्तारी से साबित होता है कि राजद अध्यक्ष परिवार ने ‘काम के बदले जमीन’ घोटाले के जरिये अरबों रुपये की बेनामी संपत्ति जमा की है। श्री मोदी ने यहां जनता दरबार के बाद आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि काम के बदले जमीन घोटाला मामले में उनकी ओर से श्री यादव और उनके परिवार पर लगातार लगाये जा रहे आरोपों के बाद 16 मई को आयकर विभाग के श्री यादव, उनके करीबी और रिश्तेदारों से जुड़े बेनामी संपत्ति मामले में दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के 22 ठिकानों पर पड़े छापे के बाद सवाल उठने लगे थे कि ‘कहां पड़े हैं छापे।’ लेकिन, श्रीमती भारती की बिना कोई टर्न ओवर और बिना कोई कारोबार करने वाली बंद पड़ी कंपनी मिशेल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के सीए की गिरफ्तारी ने राजद अध्यक्ष परिवार के पास बेनामी संपत्ति होने का प्रमाण देने के साथ ही किस मामले में और किस ठिकाने पर पड़े छापे को लेकर सवाल उठाने वालों के लिए करारा जवाब है। गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय ने श्रीमती भारती की बंद पड़ी कंपनी मिशेल पैकर्स के सीए राजेश अग्रवाल को 8000 करोड़ रुपये मनी लाउंड्रिंग मामले में जेल में बंद जैन बंधु सुरेंद्र जैन और वीरेंद्र जैन के हवाला मामले में गिरफ्तार किया है। जैन बंधुओं पर श्रीमती भारती की कंपनी के कम मूल्य वाले शेयर को ऊंचे दाम पर खरीदने और बाद में भी फिर उन शेयरों को उन्हें ही कम कीमत पर बेचकर लालू परिवार के एक करोड़ 20 लाख रुपये कालेधन को सफेद बनाने का आरोप है।


श्री मोदी ने कहा कि राज्यसभा सांसद मीसा भारती ने वर्ष 2002 में केवल एक लाख रुपये का निवेश कर मिशेल पैकर्स नाम से कंपनी बनाई थी। इस कंपनी ने न कोई कारोबार किया, न कोई टर्नओवर और इसमें न ही कोई कर्मचारी ही थे। हालांकि वर्ष 2005-06 में कंपनी को बंद कर दिया गया। इसी वर्ष कंपनी ने 20 लाख रुपये में संयंत्र और मशीनें बेच दी। इसके बाद वर्ष 2008-09 में अज्ञात लोगों ने इस कंपनी को बिना ब्याज के 48 लाख रुपये का कर्ज भी दिया। भाजपा नेता ने कहा कि श्रीमती भारती ने 25 नवंबर 2008 को बंद पड़ी कंपनी के 10 रुपये मूल्य के करीब 12,500 शेयर को 100 रुपये प्रति शेयर की दर से वीरेंद्र जैन को बेच दिया और ठीक 11 महीने बाद ही उन शेयरों को 10 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से खरीद भी लिया। उन्होंने कहा कि इस प्रकार वीरेंद्र जैन ने अपनी कंपनी शालिनी के माध्यम से लालू परिवार के एक करोड़ 20 लाख रुपये कालेधन को सफेद बना दिया। उन्होंने कहा कि मिशेल पैकर्स के कम मूल्य वाले शेयरों को ऊंचे दाम में खरीदकर पुन: उसे कम दाम में श्रीमती भारती को बेचने वाले जैन बंधु आठ हजार करोड़ रुपये मनी लाउंड्रिंग मामले में जेल में बंद है और प्रवर्तन निदेशालय ने उनके इसी हवाला मामले में सांसद मीसा भारती की कंपनी के सीए राजेश अग्रवाल को गिरफ्तार किया है। पूर्व उप मुख्यमंत्री ने कहा कि लालू परिवार ने इसी एक करोड़ 20 लाख रुपये से वर्ष 2008-09 में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के सबसे महंगे इलाके बिजवासन में पालम फार्म खरीदा था, जिसकी वर्तमान में कीमत 50 करोड़ रुपये से अधिक है। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की ओर से राजद अध्यक्ष और उनके परिवार के खिलाफ अबतक कोई कार्रवाई नहीं किये जाने पर कहा, “श्री कुमार ने इस मामले में 40 दिन बाद चुप्पी तो तोड़ी लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की, जिससे यह साबित होता है वह लालू परिवार के बचाव में खड़े हैं।” श्री मोदी ने विधायक अशोक सिंह हत्याकांड में राजद नेता और पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को झारखंड के हजारीबाग की अदालत से आजीवन कारावास की सजा सुनाये जाने का स्वागत करते हुये कहा कि भाजपा के प्रयास ही पटना उच्च न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई पटना की अदालत से हजारीबाग के न्यायालय में स्थानांतरित कर दिया था ताकि पूर्व सांसद सुनवाई को प्रभावित न कर सकें। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...