रामचंद्र गुहा से पूछ कर हम किसी को नियुक्त करें क्या: जावडेकर

ramchandra-guha-appointment-javadekar
नयी दिल्ली, 12 मई, मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावडेकर ने नागालैंड के शिक्षाविद् बी बी कुमार को भारतीय सामाजिक विज्ञान संस्थान का नया अध्यक्ष नियुक्त किये जाने का बचाव करते हुए कहा है कि यह कहना गलत है कि मोदी सरकार बुद्धिजीवी विरोधी है आैर हम रामचंद्र गुहा जैसे व्यक्ति से पूछ कर किसी को नियुक्त करें क्या ...। श्री जावडेकर ने आज यहाँ यूनीवार्ता से एक विशेष भेंट वार्ता में एक प्रश्न के उत्तर में यह बात कही। यह कहे जाने पर कि प्रसिद्ध इतिहासकार राम चन्द्र गुहा ने गत दिनों ट्वीट कर कहा है कि मोदी सरकार बुद्धिजीवी विरोधी है और इसका प्रमाण श्री बी बी कुमार जैसे लोगों को भारतीय सामाजिक विज्ञान संस्थान का नया अध्यक्ष नियुक्त किया जाना है। श्री जावडेकर ने कहा कि वह इस मसले पर बोलना नहीं चाहते लेकिन श्री कुमार इस्लाम के बहुत बड़े अध्येता है और पूर्वोत्तर राज्यों के आदिवासियों के बड़े मानव शास्त्री (एन्थ्रोपोलोजिस्ट) हैं और उन्होंने आदिवासियों की संस्कृति, इतिहास और उनकी आकांक्षाओं का सबसे अधिक अध्ययन किया है। उन्होंने 300 से अधिक किताबें लिखी हैं। आप उन्हें मंगवा कर पढ़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि श्री गुहा ने अगर ट्वीट किया है तो हम उनसे पूछ कर किसी को नियुक्त करें क्या। वह किसी की प्रतिभा को तय करनेवाले कौन होते हैं। गौरतलब है कि श्री गुहा ने श्री कुमार कि नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए उनकी योग्यता पर प्रश्नचिह्न खड़ा किया था और कहा था कि यह सरकार बुद्धिजीवी विरोधी है। इस संस्थान में कभी रजनी कोठारी और आंद्रे बेते जैसे बुद्धिजीवी थे। श्री कुमार जाने माने अर्थशास्त्री एवं विश्वविद्यालय आयोग के पूर्व अध्यक्ष सुखदेव थोराट का कार्यकाल समाप्त होने पर हाल ही में इस संस्थान के नए अध्यक्ष नियुक्त किये गए थे। मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार श्री कुमार ने एक लेख में मोदी को सबसे अच्छा प्रधानमंत्री बताया था और कहा था कि वह असहिष्णुता के शिकार हैं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पूर्व ओएसडी शक्ति सिन्हा को जब नेहरु संग्रहालय एवं पुस्तकालय का नया निदेशक नियुक्त किया गया था तब भी मोदी सरकार पर ये आरोप लगे थे कि उसने इतिहासकार की जगह एक आईएएस अधिकारी को निदेशक बनाया है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...