मधुबनी : यहाँ कई गाँव ऐसा भी हैं जहाँ बरात पैदल आते है और पैदल जाते हैं ।

  • कारण मुख्यालय से जोड़ने वाली मुख्य सड़क तलाब में तब्दील ।

madhubani-road
मधुबनी (दिनेश सिंह) : भारत से नेपाल को जोड़ने वाली मधुबनी - राजनगर भाया रामपट्टी मुख्य सड़क पूरी तरह बन्द हो चुकी है । बन्द होने का कारण सड़क की जर्जरता । बता दूँ की लगभग दस सालों से इस सड़क पर कोई मरम्मटी का काम नहीँ हुआ है । सरकार आँख बन्द कर तमाशा देख रही है । चुनाव के समय सभी दल के प्रत्याशी इस सड़क के निर्माण का दावा करती है , मगर चुनाव जितने के बाद , सभी वादे भूल जाते हैं । बता दूँ कि  राजनगर प्रखंड अन्तर्गत मिर्जापुर , सीमरी , पिपरौलिया एवं बलाट की स्थिती इतनी दयनीय है कि यहाँ स्थानीय निवासियों को घर से निकलना भी मुश्किल हो गया है । शादी का समय है , परंतु इन गाँवों में बराती पैदल आते हैं , और पैदल ही जाते हैं । स्थानीय ग्रामीणों के द्वारा कई बार इस बाबत अधिकारियों से शिकायत भी की गई , मगर आश्वासन के अलावे कूछ नहीँ हुआ । कई बार इस सड़क के लिये आंदोलन , सड़क जाम इत्यादि भी किया गया परंतु कोई काम नहीँ हुआ । अब ग्रामीणों के द्वारा भूख हड़ताल करने की चेतावनी दी गई है । मालूम हो की अभी बरसात महीना भी नहीँ आया , मगर सड़क के गढ्ढे में इतना पानी भर गया है की कभी भी कोई बच्चा इसमे डूब सकता है । ग्रामीण बताते है कि , कभी इस सड़क से पटना, समस्तीपुर एवं अन्य जगहों के लिये सवारी गाड़ी मिल जाती थी । परंतु अब आलम ये है कि सवारी गाड़ी पकड़ने के लिये छ: किलोमीटर पैदल चलना पड़ता है । जब इस बाबत परिवहन अधिकारी से पूछा तो उन्होंने बताया कि इस सड़क का टेंडर पास हो चुका है । बहुत जल्द सड़क निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा । 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...