इंडोनेशिया और आस्ट्रेलियन ओपन में सिंधू-सायना संभालेंगी चुनौती

sindhu-sina-lead-india
नयी दिल्ली,11 मई, विश्व की चौथे नंबर की खिलाड़ी पीवी सिंधू और नौवें नंबर की सायना नेहवाल जून में होने वाले इंडोनेशिया और आस्ट्रेलियन ओपन सुपर सीरीज टूर्नामेंटों में भारत की चुनौती संभालेंगी। भारतीय बैडमिंटन संघ(बाई) ने 30 मई से चार जून तक होने वाले थाईलैंड ओपन ग्रां प्री गोल्ड, 12 से 18 जून तक होने वाले इंडोनेशिया ओपन सुपर सीरीज और 20 से 25 जून तक होने वाले आस्ट्रेलिया ओपन सुपर सीरीज टूर्नामेंट के लिये भारतीय टीमों की गुरूवार को घोषणा कर दी। राष्ट्रीय कोच पुलेला गोपीचंद ने हाल में बाई के एक सम्मेलन में सुझाव दिया था कि टीमों की घोषणा समय से पहले की जाए जिससे खिलाड़ियों को अपने प्रबंध करने और तैयारी करने में आसानी रहे। बैडमिंटन संघ के नये अध्यक्ष हिमांता बिस्वा सरमा ने गोपीचंद के इस सुझाव पर कहा था कि इस पर अमल किया जाएगा। बाई ने कोलकाता में मंगलवार और बुधवार को अपनी चयन समिति की बैठक की थी और तीनों टूर्नामेंटों के लिये टीमों की घोषणा कर दी। इंडोनेशिया और आस्ट्रेलिया ओपन में भारतीय चुनौती का दारोमदार सिंधू और सायना पर निर्भर करेगा। सिंधू शानदार फार्म में हैं और उन्होंने पिछले महीने दो अप्रैल को इंडिया ओपन सुपर सीरीज का खिताब जीता था। सायना के लिये भी इन टूर्नामेंटों में फार्म में वापसी करने का अच्छा मौका रहेगा। सायना ने गत वर्ष रियो ओलंपिक से पहले आस्ट्रेलियन ओपन का खिताब जीता था। सायना थाईलैंड ओपन में भी उतरेंगी।


पुरूष वर्ग में 13वें नंबर के अजय जयराम के साथ सिंगापुर ओपन के फाइनलिस्ट किदाम्बी श्रीकांत , एच एस प्रणय, बी साई प्रणीत, समीर वर्मा और परूपल्ली कश्यप रहेंगे। महिला युगल में अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी रहेगी जबकि मिश्रित युगल में प्रणव चोपड़ा और सिक्की रेड्डी तथा सुमित रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा पर दारोमदार रहेगा। थाईलैंड ओपन उभरते खिलाड़ियों के लिये अपनी प्रतिभा दिखाने का एक अच्छा मंच है। सिंगापुर ओपन में खिताब जीतने वाले 22वें नंबर के खिलाड़ी बी साई प्रणीत थाईलैंड में अपनी चुनौती पेश करेंगे। उनके साथ परूपल्ली कश्यप और सायना नेहवाल उम्मीदों का केंद्र हैं। सायना 2012 में यहां विजेता रह चुकी हैं। हर्षील दानी, सिरील वर्मा, राहुल यादव, शुभंकर डे, ईरा शर्मा, रूत्विका शिवानी, आकर्षिक कश्यप और रितुपर्णा दास के पास भी थाईलैंड में खुद को साबित करने का मौका रहेगा। बाई के महासचिव और आधिकारिक प्रवक्ता अनूप नारंग ने कहा“ हमने समय से काफी पहले ही टीमों की घोषणा कर दी है ताकि खिलाड़ी अपने यात्रा प्रबंध कर सकें और खुद को शारीरिक तथा मानसिक रूप से इन टूर्नामेंटों के लिये तैयार कर सकें।” 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...