आम लोगों की तुलना में पूर्व सैनिकों में खुदकुशी का अधिक खतरा नहीं होता है

suicide-case-army-and-civil
लंदन, 13 मई, ब्रिटेन में हुए एक नए अध्ययन में सामने आया है कि आम लोगों की तुलना में सशस्त्र बलों में काम कर चुके पूर्व सैनिकों में खुदकुशी करने का ज्यादा जोखिम नहीं होता है। हालांकि बुजुर्ग पूर्व सैनिक और महिला पूर्व सैनिकों जैसे कुछ समूहों में आत्महत्या का जोखिम अधिक होता है। पूर्व सैनिकों में खुदकुशी के जोखिम पर किए गए पहले के अध्ययनों ने एक मिली-जुली तस्वीर पेश की थी लेकिन ब्रिटेन के अध्ययन आम तौर पर यह दर्शाते हैं कि आम जनता की तुलना में पूर्व सैनिकों में आत्महत्या का जोखिम अधिक नहीं होता है। फॉकलैंड और खाड़ी युद्ध के पूर्व सैनिकों ने खुदकुशी का कम खतरा दर्शाया है। स्कॉटलैंड की ग्लासगो विश्वविद्यालय के अध्ययनकर्ताओं ने आम नागरिकों की तुलना में 1960 से 2012 तक सेना में काम कर चुके सभी पूर्व सैनिक में खुदकुशी के दीर्घाकालिक जोखिम का विश्लेषण किया है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...