विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 25 मई

कलेक्टर द्वारा आवेदनों के निराकरण की क्रास माॅनिटरिंग

vidisha news
ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के तहत जिले में प्राप्त आवेदनों के निराकरण की क्रास माॅनिटरिंग आज कलेक्टर श्री अनिल सुचारी के द्वारा जनपदों में भ्रमण कर दी गई। कलेक्टर श्री सुचारी ने गुरूवार को जनपद पंचायत ग्यारसपुर, कुरवाई, बासौदा और नटेरन के कार्यालयों में पहुंचकर ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के तहत प्राप्त हुए आवेदनो पर की गई कार्यवाही की क्रास माॅनिटरिंग विभागवार की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि पोर्टल पर दर्ज संख्या के अनुसार आवेदनों का रिकार्ड पंजी संधारित की जाए। जिसकी एक प्रति जिला पंचायत, जनपद पंचायत और संबंधित ग्राम पंचायत में संधारित की जाए। कलेक्टर श्री सुचारी ने समीक्षा बैठक के दौरान स्थानीय एसडीएम एवं जनपद के सीईओ को स्पष्ट निर्देश दिए कि एक भी आवेदन बिना कार्यवाही का लंबित ना रखें। आवेदनों के निराकरण की जानकारी आगामी ग्रामसभा में वाचन की जानी है ताकि ग्राम के आवेदक स्पष्ट रूप से अवगत हो सकें कि उनके आवेदन पर क्या कार्यवाही की गई है। उन्होंने प्रपत्र-चार में समुचित जानकारी 30 मई के पूर्व बेवसाइट पर दर्ज कराने के निर्देश सभी जनपदों के सीईओ को दिए। कलेक्टर श्री सुचारी ने ग्यारसपुर जनपद पंचायत के प्रागंण में दिव्यांगो के लिए आयोजित स्वास्थ्य उपचार केम्प का भी जायजा लिया गया। यहां उन्होंने दिव्यांगों से संवाद भी स्थापित किया। कलेक्टर श्री सुचारी को नटेरन के जनपद सीईओ ने बताया कि अभियान के दौरान प्रधानमंत्री जनश्री बीमा के 32 आवेदन मात्र नटेरन में ही प्राप्त हुए है जिनका निराकरण किया जा चुका है। यहां जनसहयोग से तालाब के गहरीकरण कार्य की कलेक्टर द्वारा प्रशंसा की गई और मौके पर मुआयना किया गया। स्थानीय एसडीएम श्री मकसूद अहमद ने बताया कि तालाब का कैचमेंट एरिया 32 बीघा है। तालाब के किनारे पौधरोपण के लिए बनाई गई कार्ययोजना से भी अवगत कराया।


उचित मूल्य दुकानो से शेष राशनकार्डधारियों को पंजी के माध्यम से वितरण

नगरीय क्षेत्र की उचित मूल्य दुकानों के ऐेसे राशनकार्डधारी जिन्हें अब तक मई माह का राशन नही मिला है उन सभी को पीओएस मशीन के स्थान पर वितरण पंजी के माध्यम से प्रदाय करने के दिशा निर्देश खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण के संयुक्त संचालक द्वारा जारी किए गए है। जिला आपूर्ति अधिकारी श्री मोहन मारू ने बताया कि अपै्रल 2017 से नगरीय क्षेत्रों में पात्र परिवारों को बायोमैट्रिक सत्यापन के आधार पर राशन वितरण की व्यवस्था लागू की गई है। एनआईसी सर्वर में तकनीकी खराबी के कारण नगरीय क्षेत्र की उचित मूल्य दुकानों से पीओएस मशीन के माध्यम से बायोमैट्रिक सत्यापन के आधार पर पात्र परिवारों को मई माह का राशन वितरण नही हो पा रहा है। उक्त समस्या को दृष्टिगत रखते हुए पात्र परिवारों को वितरण पंजी के माध्यम से राशन वितरण की अनुमति शर्तो के अनुसार दी गई है। तदानुसार केवल उन्ही पात्र परिवारों को राशन वितरण किया जाएगा जिनका आवंटन मई माह के लिए जारी किया गया है। पात्र परिवार से पहचान स्वरूप आधार नम्बर की छाया प्रति उचित मूल्य दुकान द्वारा प्राप्त की जाएगी। मई माह के लिए अतिरिक्त आवंटन जारी नही किया जाएगा। वास्तविक पात्र परिवार को राशन की प्राप्ति हो की जबावदेंही संबंधित क्षेत्र के सहायक कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी की होगी। वितरण पंजी एक जून तक जिला खाद्य कार्यालय/अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) के कार्यालय में वितरण पश्चात सुरक्षित रखी जाएगी। वितरण पंजी के माध्यम से यह व्यवस्था केवल मई माह के लिए लागू होगी। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...