टैंकर घोटाला : एसीबी ने सरकारी लेखा परीक्षक की राय मांगी

water-tanker-scam-delhi
नयी दिल्ली, 25 मई, दिल्ली की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा :एसीबी: ने कथित 400 करोड़ रपये के पानी टैंकर घोटाले में अपनी जांच के संबंध में सरकार के शीर्ष लेखा परीक्षक की राय मांगी है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय राजस्व, महालेखाकार से पूछा गया है कि पानी के करीब 400 टैंकर खरीदने के लिए क्या नियमों की अवहेलना की गई। एसीबी प्रमुख मुकेश कुमार मीणा ने इसकी पुष्टि की लेकिन विस्तृत जानकारी देने से इंकार कर दिया। एसीबी पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के कार्यकाल में हुई इस घोटाले की जांच कर रही है। एजेंसी ने दिल्ली के बख्रास्त मंत्री कपिल मिश्रा से पूछताछ की। कपिल ने ‘‘घोटाले’’ से संबंधित कुछ दस्तावेजों के साथ एसीबी का रूख किया था। कपिल ने आरोप लगाया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने टैंकर घोटाले की जांच को ‘‘प्रभावित’’ करने की कोशिश की थी। एसीबी ने इस मामले में गत सप्ताह केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार से भी पूछताछ की थी। एसीबी अधिकारियों ने गत वर्ष अगस्त में टैंकर घोटाले में कथित संलिप्तता के चलते दीक्षित से भी ‘‘पूूछताछ’’ की थी।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...