बिहार : शिक्षा मंत्री से मिला ए.आई.एस.एफ. प्रतिनिधिमंडल

इंटर परीक्षा गड़बड़ी सहित 8 सूत्री मांगों का ज्ञापन सौंपा, मंत्री ने सभी मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार का दिया भरोसा, मैट्रिक परीक्षाफल के बाद मिलेंगे बोर्ड को षिक्षाविद अध्यक्ष, आर्ट काॅलेज के प्राचार्य को हटाने का निर्देष, मांगों की पूत्र्ति नहीं होने पर आंदोलन जारी रखने की चेतावनी





aisf-meet-education-minister
पटना:- षिक्षा मंत्री अषोक चैधरी से पोलो रोड उनके आवास पर आज आॅल इंडिया स्टूडेन्ट्स फेडरेषन का तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल मिला। इंटर परीक्षाफल गड़बड़ी सहित 8 सूत्री मांगों का ज्ञापन षिक्षा मंत्री को सौंपा। स्क्रूटनी की बजाए निःषुल्क पुनर्मल्यांकन करा पुनः परीक्षाफल प्रकाषित करने, तीन विषयों में कंपार्टमेंटल, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किषोर को हटाकर षिक्षाविद अध्यक्ष की नियुक्ति, गड़बड़ी की उच्चस्तरीय जांच करा दोषियों को सजा, समान स्कूल प्रणाली लागू करने, 8 जून को प्रदर्षन के दौरान पीरबहोर थानाध्यक्ष एवं गांधी मैदान थानाध्यक्ष की बर्खास्तगी, सभी छात्राओं एवं अनुसूचित जाति/जनजाति के छात्रों को पी.जी. तक निःषुल्क षिक्षा के आदेष का पालन, पटना आर्ट काॅलेज के प्राचार्य की बर्खास्तगी की मांगी की। लगभग आधे घंटे की बातचीत मिें षिक्षा मंत्री अषोक चैधरी ने कहा कि अभी स्क्रूटनी के लिए आवेदन लिए जा रहे हैं। स्क्रूटनी के आवेदनों के पश्चात ही पता चलेगा कि कितना आवेदन आ रहा है और किस प्रकार की गड़बड़िया हैं। छात्रों की मांग पर ही स्क्रूटनी के लिए आवेदन फी घटाया गया। हालांकि उन्होंने पूरी तरह से माफ करने की बात कही थी। प्रतिनिधिमंडल में शामिल छात्र पुनर्मुल्यांकन के मसले पर अड़े थे। षिक्षा मंत्री ने कहा कि पुनर्मुल्यांकन कराना आसान नहीं है। लेकिन आवेदन आ जाने के बाद देखा जाएगा कि एक छात्र को एक विषय में अधिक अंक आते है तो दूसरे में क्यों कम आ रहे हैं। षिक्षा मंत्री ने मैट्रिक के परीक्षाफल के बाद बोर्ड में स्थायी षिक्षाविद अध्यक्ष की नियुक्ति की बात कही। षिक्षा मंत्री श्री चैधरी ने आर्ट काॅलेज के प्रभारी प्राचार्य चंद्रभूषण श्रीवास्तव की बर्खास्तगी के मसले पर पटना वि.वित्र कुलपति को हटाने के संबंध में कहा जा चुका है जिस व्यक्ति की वजह से काॅलेज इतने दिनों तक डिस्टर्व रहा उसे बर्दास्त नहीं किया जा सकता। वहीं सभी मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार कर फैसला लेने की बात कही। वात्र्ता के बाद प्रतिनिधिमंडल में शामिल ए.आई.एस.एफ के राज्य सचिव सुषील कुमार, राज्य सह सचिव रंजी पंडित एवं अषीष कुमार ने कहा कि मांगों की पूत्र्ति नहीं होने पर आंदोलन जारी रखा जाएगा।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...