जीटीए के सभी निर्वाचित जीजेएम सदस्य इस्तीफा देंगे

all-elected-gjm-members-of-gta-will-resign
दार्जिलिंग 22 जून, गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम)के अध्यक्ष विमल गुरुंग ने आज कहा कि अर्द्ध-स्वायत्तशासी संस्था गोरखालैंड क्षेत्रीय प्रशासन(जीटीए) के लिये निर्वाचित जीजेएम के सभी सदस्य अपने पदों से इस्तीफा देंगे और दार्जिलिंग में नेपाली भाषी लोगों के पृथक राज्य की मांग को लेकर अंतिम सांस तक संघर्ष करेंगे। श्री गुरुंग ने गत शनिवार को सिंगमाड़ी में हिंसक घटना में एक व्यक्ति की मौत को लेकर दार्जिलिंग पुलिस की ओर से अपने और पत्नी आशा के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किये जाने के संबंध में कहा कि सिंगमाड़ी में पुलिस फायरिंग में पार्टी के तीन कार्यकर्ताओं की मौत हुई है। श्री गुरुंग ने एक निजी टेलीविजन चैनल से कहा,“ हम गोरखालैंड राज्य के लिये गोलियां खाने को तैयार हैं। ” उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एक ‘डर्टी’खेल खेल रही हैं। उन्हाेंने कहा कि 20 जून को सर्वदलीय बैठक में निर्णय ले लिया गया था कि दो अगस्त को होने वाले जीटीए चुनाव में कोई पार्टी हिस्सा नहीं लेगी। इस बीच सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन चामलिंग ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को गत 20 जून को यह कहते हुये गोरखालैंड के गठन के लिये पत्र लिखा था कि भारतीय गोरखाओं के लिये अलग राज्य बनाये जाने से पूर्वी हिमालयीन क्षेत्र में सभी स्तर पर विकास होगा और क्षेत्र में शांति स्थापित होगी। श्री चामलिंग के इस बयान पर पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने प्रतिक्रिया व्यक्त हुये कहा कि पड़ोसी राज्य को दार्जिलिंग के बारे में कोई टिप्पणी करने से पहले सावधानी बरतनी चाहिये।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...