मंदसौर जिले में किसानों का आंदोलन उग्र हुआ, गोली लगने से छह की मौत

farmers-agitation-in-mandsaur-district-intensified-six-killed-in-firin
मंदसौर, 06 जून, मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के पिपल्यामंडी में किसानों के उग्र आंदोलन के दौरान आज पुलिस और आंदोलनकारियों के बीच हिंसक झड़प में गोली लगने के कारण छह लोगों की मौत हो गयी और दो अन्य घायल हैं। हालात को देखते हुए मंदसौर जिला मुख्यालय और पिपल्यामंडी में कर्फ्यू लगा दिया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मामले की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं। कांग्रेस ने घटना की निंदा करते हुए मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की है। पुलिस सूत्रों के अनुसार कल रात से जारी किसानों के उग्र प्रदर्शन और आंदोलन के दौरान स्थितियों को नियंत्रित करने के लिए आज सुबह लगभग ग्यारह बजे पुलिस को गोलियां चलानीं पड़ीं। पुलिस सूत्रों ने कहा कि हिंसक झड़पों में प्रभुलाल पाटीदार, कन्हैयालाल पाटीदार और बबलू पाटीदार की मौत हो गई। इनकी मौत गोली लगने के कारण हुयी है। पांच अन्य घायलों को बेहतर इलाज के लिए इंदौर भेजा गया, लेकिन रास्ते में सुरेंद्र और एक अन्य की भी मौत हो गई। सूत्रों ने बताया कि यहां से लगभग 20 किलोमीटर दूर पिपल्यामंडी में उपद्रवी आंदोलनकारियों को नियंत्रित करने के लिए गोलियां चलाना पडीं। घटना के बाद आसपास के जिलों से भी अतिरिक्त पुलिस बल बुलाकर तैनात किया गया है। हिंसा पर उतारू आंदोलनकारियों ने एक पुलिस चौकी को भी आग लगाने की कोशिश की लेकिन उसे असफल कर दिया गया। इन घटनाओं के संबंध में जिले के वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है और वे सभी स्थिति को नियंत्रित करने में लगे हैं। मंदसौर के साथ पड़ोसी नीमच और रतलाम जिले में संचार सेवाएं व्हाट्सएप और इंटरनेट इत्यादि बंद कर दी गयी है। अफवाहों को रोकने के प्रयास के तहत ऐसा किया गया है। इस घटना के बाद मंदसौर जिला मुख्यालय और पिपल्यमंडी में कर्फ्यू लगा दिया गया है। कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि प्रशासन की पहली प्राथमिकता कानून व्यवस्था बनाए रखना है। पुलिस और प्रशासन पूरे जिले की स्थिति पर नजर रखे हुए है। इसके पहले कल देर रात प्रदर्शनकारियों ने जिले के दलौदा में एक रेलवे फाटक को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने पटरियों की कनेक्टर क्लिप निकालने की कोशिश करते हुए पटरियां उखाड़ने का भी प्रयास किया। उग्र प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग और अश्रु गैस के गोले छोड़ कर प्रदर्शनकारियों को वहां से हटवाया।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...