मुख्यमंत्री चौहान ने दूसरे दिन अपना अनिश्चितकालीन उपवास तोड़ा, कहा शांति बहाली हुई

chauhan-fast-ends
भोपाल, 11 जून, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज यहां दूसरे दिन अपना अनिश्चितकालीन उपवास तोड़ दिया। प्रदेश में शांति बहाली के लिए वह यहां भेल दशहरा मैदान में उपवास पर कल ही बैठे थे। उपवास तोड़ने से पहले चौहान ने कहा, ‘‘प्रदेश में शांति बहाली हो गई है। कल और आज कोई भी हिंसा की रिपोर्ट मध्यप्रदेश से नहीं आई है। इसलिए अब मैं उपवास तोड़ रहा हूं।’’ भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी ने चौहान को एक गिलास नारियल पानी पिलाकर उनका उपवास तुड़वाया। इससे पहले केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं थावरचंद गहलौत, भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री कैलाश विजयवर्गीय एवं पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा सहित वहां उपस्थित लोगों ने मुख्यमंत्री से उपवास समाप्त करने का अनुरोध किया। कांग्रेस ने मुख्यमंत्री चौहान के इस उपवास को कल ‘नौटंकी’ बताया था। चौहान ने कहा, ‘‘मंदसौर जिले में छह जून को किसान आंदोलन के दौरान पांच किसानों के मारे जाने के लिए जो भी दोषी पाया जाएगा, उसे कड़ी सजा दी जाएगी।’’ मंदसौर इस किसान आंदोलन का मुख्य केन्द्र रहा। वहां पर छह जून को पुलिस की गोलीबारी में पांच लोगों की मौत हो गई थी और छह अन्य घायल हो गये थे। इसके बाद किसान आंदोलन और उग्र हो गया था तथा इस दौरान प्रदेश में विशेष तौर पर पश्चिमी मध्यप्रदेश में हिंसा, आगजनी, तोड़फोड़ एवं लूटपाट की कई घटनाएं हुईं। इससे आहत होकर शांति बहाली के लिए मुख्यमंत्री उपवास पर बैठे थे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...