बिहार : महिला प्रदर्शनकारी के साथ दुर्व्यवहार की भाकपा ने की निंदा

cpi-condemn-bihar-police-action-against-women-protester
पटना, 15 जून। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने पटना में अपनी मांगों को लेकर प्रदर्षन कर रहे वाम छात्र संगठनों की एक छात्रा को महिला पुलिस की मौजूदगी में एक पुरूष पुलिसकर्मी द्वारा बेषर्मी की हद तक जाकर बुरी तरह से दबोचने की घोर निन्दा की है तथा सरकार एवं पुलिस प्रषासन से संबंधित पुरूष पुलिसकर्मी के विरूद्ध कठोर दंडात्मक कार्रवाई करने की मांग की है। आज भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य दफ्तर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में पार्टी के राज्य सचिव सत्य नारायण सिंह ने कहा कि गलत कार्यों की ओर बिहार पुलिस का मनोबल और कदम लगातार बढ़ते जा रहा है और बिहार सरकार तथा पुलिस प्रषासन इस पर मौन साधे हुए है। कल 14 जून को तो पटना पुलिस की करतूत बेषर्मी की तमाम हदों को पार कर गयी जब महिला पुलिस की मौजूदगी में एक पुरूष पुलिस कर्मी ने अपनी मांगों को लेकर प्रदर्षन कर रहे वाम छात्र संगठनों की एक छात्रा को बुरी तरह अपनी जकड़ में ले लिया तथा पुलिस अफसरों के छुड़ाने के प्रयास के बावजूद वह पुलिसकर्मी छात्रा को छोड़ने को तैयार नहीं हो रहा था। छात्रा यह प्रदर्षन बिहार इन्टरमीडियट के परीक्षाफल में घोटाला के खिलाफ तथा उत्तर पुस्तिकाओं के पुनर्मूल्यांकन के लिए कर रही थी। पटना पुलिस की यह करतूत संबंधित पुरूष पुलिसकर्मी के खिलाफ आउट्रेजिंग मोडेस्टी (षीलहरण) का केस बनता है। अतः भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी पुलिस प्रषासन एवं बिहार सरकार से मांग करती है कि वह तत्काल संबंधित पुरूष पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर और उसके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करे। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...