कड़ी मेहनत व लगन से इतिहास रच सकते हैं बच्चे : उपायुक्त दुमका

  • प्रेरक उद्बोधन सह शैक्षिक उत्कृष्टता सम्मान कार्यक्रम में उपायुक्त राहुल कु0 सिन्हा ने कहा

dc-lession-to-children
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) रिकाॅर्ड जीवन के हर पड़ाव पर बनाते रहें। अपने माता-पिता के साथ-साथ पूरे जिले का मान आपने बढ़ाया है। जीवन में चुनौतियों से घबराएँ नहीं, उसका डटकर मुकाबला करें। मैं विष्वास दिलाता हूँ कि जीत आपकी ही होगी। सूचना भवन दुमका में प्रेरक उद्बोधन सह शैक्षिक उत्कृष्टता सम्मान कार्यक्रम में जिले में दिन शुक्रवार (02 जून 2017) को अव्वल आये छात्रों को सम्बोधित करते हुए दुमका के उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने उपरोक्त बातें कही। उपायुक्त ने कहा कि जीतने को आसमां सामने है....! कड़ी मेहनत व लगन से आप इतिहास रच सकते हैं। अभी आपके पढ़ने की उम्र है, सिर्फ पढ़ाई पर ध्यान दें। उन्होंने कहा आज का दिन इस जिला के लिए ऐतिहासिक दिन है क्योंकि जिला प्रशासन प्रतिभाओं को खुद सम्मानित कर रहा है। पढ़-लिख कर  जिले के हित के लिए कुछ कर पाएँ तभी आपकी पढ़ाई सही मायने में सफल होगी। छात्रों को आर्शीवाद देते हुए उन्होंने कहा कि जिला के प्रतिभाओं को सम्मान देना कोई आश्चर्य की बात नहीं है, क्योंकि दुमका प्रतिभाओं का गढ़ है। आज की सफलता बस एक पड़ाव मात्र है। यहां से आप अपने भविष्य को चुनने जा रहे हैं। आपके सामने खुला आसमान है। अपनी काबिलियत को पहचाने। अपनी अहमियत को जाने, उसके बाद ही अपने भविष्य के रास्ते तय करें। उपायुक्त ने कहा कि पढ़ाई हमें न सिर्फ सही-गलत की पहचान कराता है बल्कि जीवन के हर क्षेत्र में अव्वल होने का अवसर प्रदान करता है। अपनी पढ़ाई को हर हालत में पूरी करें। किसी अभाव में पढ़ाई को अधूरा न छोड़ें, क्योंकि शिक्षा से ही एक बेहतर जीवन की कल्पना की जा सकती है। छात्रांे से उन्होंने कहा कि कई लोग मैट्रिक, इन्टर कर अपनी पढ़ाई छोड़ देते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि उनकी पढ़ाई पूरी हो गयी है, जबकि आपकी सही मायने में शिक्षा स्नातक से शुरू होती है। स्नातक के बाद ही आप एक अच्छे पद तक पहुंचने के लिए योग्य होते है। छात्रों को अपने जीवन के कुछ महत्वपूर्ण अवसरों से अवगत कराते हुए उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा ने कहा कि दसवीं व बारहवीं के बाद के विषयों के चयन में गंभीरता बरतने की जरुरत है। रास्ते बहुत कठिन हैं किन्तु अपनी मेहनत से निश्चित रुप से इसे प्राप्त कर सकते हैं। पढ़ाई महत्वपूर्ण जरूर है किन्तु इससे भी महत्वपूर्ण आपका स्वास्थ्य है। अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें। अपने चरित्र को अनुकरणीय बनाएँ। मंजिल की ओर लगातार अग्रसर रहें। सफलता अपनी ओर आती दिखाई देगी। इस अवसर पर जिला शिक्षा पदाधिकारी धर्मदेव राय ने कहा कि दुमका के छात्रों में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। पूरा राज्य आज इसे महसूस कर रहा है। हमारे बच्चे हर क्षेत्र में इस जिले का नाम रौशन करते रहे हैं। आज की सफलता के लिए बच्चे को पढ़ाने वाले उन सभी शिक्षकों को को बधाई जिन्होेंने बच्चों को इस लायक बनाने में महती भूमिका निभाई। उन्होंने कहा अच्छी शिक्षा के लिए अच्छे माहौल की जरूरत होती है। वे सभी अभिभावक भी धन्यवाद के पात्र हैं, जिन्होंने अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा के साथ-साथ अच्छा माहौल दिया। शिक्षा ही समाज, राज्य व राष्ट्र को आगे ले जा सकता है। सभी विद्यालयों ने यह साबित कर दिया कि बच्चों की पढ़ाई में कोताही नहीं होगी। अपने संबोधन में उप निदेशक जन सम्पर्क अजय नाथ झा ने कहा कि इस सफलता के बाद बच्चे अपना लक्ष्य निर्धारित करते हुए उसके प्रति समर्पित हो जायें। इस अवसर पर शैक्षिक उत्कृष्टता सम्मान से $2 जिला स्कूल दुमका के छात्र गुंजन पाल को उपायुक्त ने सम्मानित किया। गंुजन पाल ने जैक द्वारा आयोजित माध्यमिक परीक्षा में पूरे राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त किया। उपायुक्त ने जिलास्तर पर इन्टरमीडिएट में प्रथम स्थान प्राप्त विवेक कुमार, (एम जी इन्टर काॅलेज दुमका) दीपा चैधरी (सिदो कान्हु विद्यालय रघुनाथपुर दुमका) पीयूष मोदी (सिदो कान्हू विद्यालय रघुनाथपुर) आईसीएससी द्वारा आयोजित दसवीं की  परीक्षा में जिले में प्रथम स्थान पाने वाले छात्र मुस्कान अग्रवाल को भी सम्मानित किया गया। जिलास्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र प्रियम्बद प्रभाकर, सेजल हिम्मतसिंहका, बनमाली साहा, संदीप सेन,, लक्ष्मी मित्तल, एरोम अनीश को सम्मानित किया गया। डाॅन बास्को की दृष्टि मिश्रा, संत जोसेफ स्कूल के ऋत्विक बन्दोपाध्याय, प्रकाश कुमार साह, मिथुन मंडल सहित अनेक विद्यालयों के टाॅपरों को भी सम्मानित किया गया। जिन विद्यालयों ने जिला में टाॅपर छात्र प्रदान किया उन विद्यालयों के प्रधानों को भी सम्मानित किया गया। $2 जिला स्कूल के प्राचार्य अजय कुमार गुप्ता, सिदो कान्हु उच्च विद्यालय रघुनाथपुर के निदेशक प्रदीप्तो मुखर्जी, $2 राजकीय कन्या उच्च विद्यालय के प्राचार्य बाल्मिकी सिंह, एमजी इन्टर काॅलेज के प्राचार्य बी बी साहा, होली चाईल्ड स्कूल की प्रतिनिधि शिक्षिका स्मिता आनन्द को भी सम्मानित किया गया। जिला शिक्षा पदाधिकारी को जिला के उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए विशेष रूप से सम्मानित किया गया। प्रेरक उद्बोधन के लिए उप निदेशक जनसम्पर्क ने उपायुक्त को स्मृति चिन्ह् प्रदान किया। उप निदेशक जनसम्पर्क ने कहा कि जिले के सभी विद्यालयों के प्रथम स्थान प्राप्त छात्रों का सम्मान पत्र व ट्राॅफी  तैयार है जिसे जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा तिथि निर्धारित कर प्रदान किया जाएगा।  मंच संचालन का दायित्व जीवानन्द यादव के ने बखूबी निभाया। करूण राय, शिशिर कुमार घोष, अनंतलाल खिरहर, शुद्धोजीत चटर्जी, नीतु भारती, अनिल कुमार तिवारी, संजय कुमार सिन्हा, डाॅ सत्येन्द्र सिंह आदि इस अवसर पर उपस्थित थे। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...