‘सामाजिक कार्यकर्ताओं को मंदसौर जाने से रोकना गंभीर षड्यंत्र को छिपाने का प्रयास’

efforts-to-hide-serious-conspiracy-to-stop-social-workers-from-going-to-mandsaur
नयी दिल्ली 13 जून, सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश तथा कुछ अन्य लोगों ने मध्यप्रदेश के मंदसौर में किसानों पर पुलिस फायरिंग के मामले में आज आरोप लगाया कि पुलिस वहां नेताओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं को जाने से रोक रही है, इससे ऐसा लगता है कि राज्य प्रशासन किसी गंभीर षड्यंत्र को छिपाने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार मंदसौर और समीपवर्ती जिलों की घेराबंदी करके लोगों को वहां जाने से रोककर उनके लोकतांत्रिक अधिकारों का उल्लंघन कर रही है। मध्यप्रदेश से लौटने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में स्वामी अग्निवेश ने केन्द्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन पर इस मामले में आंखें मूंद लेने का आरोप लगाते हुए कहा कि वह बाबा रामदेव के साथ योगाभ्यास करने में व्यस्त हैं, जबकि किसान कष्ट झेल रहे हैं। स्वामी अग्निवेश के नेतृत्व में दो दिन पहले योगेन्द्र यादव और मेधा पाटकर सहित विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं का एक प्रतिनिधिमंडल मंदसौर गया था। उन्होंने अारोप लगाया कि देश भर के किसानों के ‘चलो मंदसौर’ अभियान को रतलाम के पुलिस अधीक्षक और उपमंडलीय जिला अधिकारी ने टॉल प्लाजा पर रोक दिया और सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए उसे आगे जाने की इजाजत नहीं दी गयी। श्री यादव ने कहा कि इस समय मध्यप्रदेश में कोई कानून व्यवस्था नहीं रह गयी है और राज्य सरकार पूरी तरह असंसदीय आचरण कर रही है। उन्होंने कहा कि मंदसौर और उसके समीपवर्ती जिलों रतलाम और नीमच में पुलिस मंदसौर में किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश रोकने के लिए कड़ी चौकसी बरत रही है। एक अन्य नेता हार्दिक पटेल को आज उस समय गिरफ्तार कर लिया गया, जब वह किसानों से मिलने मंदसौर जा रहे थे।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...