कुंबले विवाद के बावजूद वेस्टइंडीज के खिलाफ टीम इंडिया प्रबल दावेदार

india-may-lead-in-west-indies
पोर्ट आफ स्पेन, 22 जून, कप्तान विराट कोहली कल यहां वेस्टइंडीज की कमजोर टीम के खिलाफ पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच से पूर्व मुख्य कोच अनिल कुंबले के विवादास्पद हालात में टीम का साथ छोड़ने से मैदान के बाहर के विवादों को पीछे छोड़ना चाहेंगे। कुंबले का मुख्य कोच के रूप में सफर कैरेबियाई सरजमीं पर ही शुरू हुआ था लेकिन एक साल के भीतर भारतीय टीम यहां अपने कोच के बिना लौटी है। चैंपियंस ट्राफी में भारत के प्रदर्शन से अधिक सुखर्यिां कप्तान कोहली के कोच कुंबले के साथ मतभेदों ने बटोरी। कप्तान कोहली ऐसे मुश्किल समय में वेस्टइंडीज से कमजोर प्रतिद्वंद्वी की उम्मीद नहीं कर सकते थे जिसे अफगानिस्तान के खिलाफ भी जूझना पड़ा। पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला और एकमात्र टी20 अंतरराष्ट्रीय में कुछ बड़ी जीत इस पूरे विवाद से लोगों का ध्यान हटाने में कोहली की मदद करेगी। साथ ही यह ऐसा मौका होगा जब कोहली को टीम चयन में पूरी छूट होगी क्योंकि बल्लेबाजी कोच संजय बांगड़ की संभवत: इसमें कोई भूमिका नहीं होगी। जेसन होल्डर की अगुआई वाली वेस्टइंडीज की टीम ने हाल में अफगानिस्तान के खिलाफ 1-1 से श्रृंखला बराबर की और इसमें कोई संदेह नहीं है कि मौजूदा भारतीय टीम का स्तर मेजबान टीम से बेहतर है। कोहली भी इससे अच्छी तरह वाकिफ हैं और बीसीसीआई के आला अधिकारियों से कुंबले मामले में पूरा समर्थन मिलने के बाद भारतीय कप्तान के लिए गलती की गुंजाइश काफी कम होगी। भारत के वनडे में 5-0 से जीतने की उम्मीद की जा रही है क्योंकि वेस्टइंडीज के 13 खिलाड़ियों को कुल मिलाकर 213 मैच खेलने का अनुभव है जिसमें कप्तान होल्डर 58 मैचों के साथ सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...