भारत ने व्यापक नरसंहार वाले हथियारों तक आतंकियों की पहुंच पर संरा में चिंता जताई

india-messege-in-united-nation
संयुक्त राष्ट्र, 29 जून, भारत ने ऐसी साठगांठ की संभावना पर गहरी चिंता जताई है जिसके चलते व्यापक नरसंहार के हथियार आतंकी नेटवर्को तथा राज्येतर तत्वों के हाथ लग सकते हैं। साथ ही आतंकवाद से निबटने के लिए अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद पर व्यापक सम्मेलन में बातचीत को जल्द निष्कर्ष तक पहुंचाने की मांग उठाई। संरा में भारत के उप स्थायी प्रतिनिधि राजदूत तन्मय लाल ने यहां कहा, व्यापक नरसंहार के हथियार तक पहुंच और इन्हें राज्येतर तत्वों के हाथों में पड़ने से रोकना लगातार चिंता का विषय बना हुआ है खासकर इसलिए कि आतंकी समूहों और राज्येतर तत्वों की जड़ें बहुत गहरी हो चुकी हैं और वे आतंक फैलाने के लिए अलग-अलग रास्तों का इस्तेमाल करते हैं। राज्येतर तत्वों के हाथों में ऐसे हथियारों को पड़ने से रोकने संबंधी प्रयासों के विषय पर आधारित सुरक्षा परिषद की चर्चा में लाल ने कहा कि आतंकी नेटवर्क तथा राज्येतर तत्व अपनेआप में इतने सक्षम नहीं हैं कि इन आधुनिक तथा संवदेनशील प्रोद्यौगिकी तथा सामग्री तक उनकी पहुंच हो सके। उन्होंने कहा, व्यापक नरसंहार के हथियारों के प्रसार की घटनाओं से हम सब परिचित हैं। ऐसी मिलीभगत हमारे लिए वास्तविक चिंता का विषय बनी हुई है। इस गंभीर खतरे से प्रभावी तथा सतत अंतरराष्ट्रीय सहयोग, समन्यव और निगरानी के जरिए ही निबटा जा सकता है। लाल ने कहा, क्षमता निर्माण और प्रशिक्षण के अलावा, वैश्विक समुदाय को आतंकवाद से निबटने तथा राज्येतर तत्वों की व्यापक नरसंहार के हथियारों तथा संबंधित सामग्री तक पहुंच को रोकने के लिए वैश्विक कानूनी ढांचे की खामियों को दूर करने के प्रयास करने चाहिए। अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद पर व्यापक सम्मेलन के मसौदे पर बातचीत को जल्द निष्कर्ष पर पहुंचना लाभदायक होगा।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...