शंघाई सहयोग संगठन में भारत का प्रवेश ऐतिहासिक: मोदी

india-s-entry-into-sco-is-historic-modi
अस्ताना 09 जून, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शंघाई सहयोग संगठन की यात्रा में भारत के प्रवेश को ‘ऐतिहासिक मोड़’ करार देेते हुए आज कहा कि भारत सक्रिय और सकारात्मक सहभागिता के लिए पूरी तैयारी के साथ कटिबद्ध है, श्री मोदी ने यहां शंघाई सहयोग संगठन के 17 वें शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि संगठन के सदस्य देशों के साथ संपर्कता भारत की प्राथमिकता है और वह इसका पूरा समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि संगठन पूरे क्षेत्र की समृद्धि के लिए जलवायु परिवर्तन,शिक्षा, कृषि, ऊर्जा और विकास की समस्याओं पर अपना ध्यान केंद्रित कर सकता है। क्षेत्रीय परिप्रेक्ष्य में अफगानिस्तान में शांति तथा स्थिरता में भी संगठन के प्रयासों से लाभ उठाया जा सकता है। श्री मोदी ने कहा, “हमारी सदस्यता के समर्थन के लिए, मैं संगठन के सभी देशों का हार्दिक आभार प्रकट करता हूं।” चीन, रुस, कजाख्स्तान, किर्गिजस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान संगठन के संस्थापक सदस्य हैं। भारत वर्ष 2005 में संगठन में पर्यवेक्षक के तौर पर शामिल रहा है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि संगठन के दायरे में वैश्विक आबादी का 42 प्रतिशत हिस्सा रहता है। संगठन में भारत के प्रवेश से सदस्य देशों के बीच सहयोग बढ़ेगा और संपर्कता तथा आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष में इजाफा होगा।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...