जलवायु परिवर्तन से निपटने में भारत की भूमिका महत्वपूर्ण : हर्षवर्धन

india-s-role-is-important-in-tackling-climate-change--harsh-vardhan
नयी दिल्ली 04 जून, पर्यावरण और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री हर्षवर्धन ने आज कहा कि स्वच्छ और हरित पर्यावरण की दिशा में आगे ले जाने के लिए विश्व का मार्गदर्शन करने और जलवायु परिवर्तन से निपटने में भारत महत्वपूर्ण भूूमिका निभा सकता है। श्री हर्षवर्धन ने पर्यावरण दिवस को मनाने के लिए प्रकृति से जुड़ाव विषय पर यहां आयोजित समारोह में यह विचार व्यक्त किया। उन्होंने इस अवसर पर कुछ पर्यावरणविदों द्वारा पर्यावरण पर लिखी चार पुस्तिकाओं का विमोचन करने के साथ ही एक मोबाइल ऐप भी लांच किया, जिसके जरिये वन्यजीव अभयारण्यों और विज्ञान से संबंधित सभी सूचनाएं प्राप्त की जा सकती हैं। उन्होंने हरित कौशल विकास कार्यक्रम पर एक पुस्तिका भी जारी की। श्री हर्षवर्धन ने कहा कि विश्व ने प्रकृति के सरंक्षण पर पहले से ध्यान दिया होता और पर्याप्त उपाय किये हाेते तो आज क्योटो प्रोटोकॉल और पेरिस जलवायु समझौते की जरूरत नहीं होती क्योंकि प्रकृति को संरक्षित किया जाये तो वह अपना सरंक्षण स्वयं करती है। उन्होंने कहा कि भारत भी इससे चिंतित है क्योंकि आपके आसपास जो हो रहा है, उससे आप अछूते नहीं रह सकते। श्री हर्षवर्धन ने कहा कि भारतीयों ने प्रकृति माता का संरक्षण करने में कहीं चूक की है और इसी का नतीजा है कि अनियंत्रित अनिश्चितता के रूप में लौट रही है। इसलिए भारत सहित पूरे विश्व को पर्यावरण की इस खराब स्थिति पर सोचने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि नब्बे के दशक में जब वह स्वास्थ्य मंत्री थे उस समय मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में देश का पहला व्यावसायिक पर्यावरणीय स्वास्थ्य केन्द्र खोला गया था।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...