यह टाॅपर घोटाला नहीं, केवल फर्जीवाड़ा है : अशोक चौधरी

its-not-scam-its-fraud-ashok-chudhry
पटना 07 जून, बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) की इंटरमीडिएट परीक्षा में शामिल हुये गणेश कुमार के कला संकाय में टॉप करने पर शुरू हुये विवाद के बीच आज कहा कि यह टॉपर घोटाला नहीं बल्कि मात्र फर्जीवाड़े का एक मामला है।  श्री चौधरी ने यहां कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में कहा कि इंटर परीक्षा में कला संकाय के टॉपर रहे गणेश कुमार का मामला टॉपर घोटाला नहीं बल्कि केवल फर्जीवाड़े का एक मामला है, जिसका खुलासा होने पर बीएसईबी ने कार्रवाई भी की है।  शिक्षा मंत्री ने कहा, “अपनी उम्र कम करने के लिए फर्जी दस्तावेजों के आधार पर गणेश मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में शामिल हुआ था। मामले का खुलासा होने के बाद उसे गिरफ्तार कर पूरे मामले की जांच की जा रही है।” उन्होंने कहा कि इस मामले में जो भी दोषी पाया जाएगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।  श्री चौधरी ने कहा कि इस बार परीक्षा का संचालन और उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन काफी कड़ाई से किया गया है और इसके लिए अपनाई गई प्रक्रिया पर संदेह नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के भविष्य की रक्षा करना उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है। उन्होंने कहा कि जो छात्र-छात्राएं परीक्षा परिणाम में प्राप्त अंक से संतुष्ट नहीं है उनकी उत्तर पुस्तिकाओं का शीघ्र ही पुनर्मूल्यांकन कराया जाएगा और परिणाम भी जल्द ही घोषित कर दिये जाएंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि होम सेंटर होने के कारण संगीत की प्रैक्टिकल परीक्षा में गणेश को अधिक अंक मिलना कोई आश्चर्य की बात नहीं है। उन्हाेंने दावा किया कि गणेश के प्रैक्टिकल में प्राप्त अंक पर सवाल उठाने वालों को भी उनके विद्यार्थी जीवन में होम सेंटर पर परीक्षा होने के कारण अधिक अंक का लाभ अवश्य मिला होगा। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...