झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 02 जून

पुलिस अधिक्षक ने ली कलमोडा मे खाटला बेठक
  • आदिवासीयो से किया शराब जेसी कुरुतीया छोडने का आहवान

jhabua news
पारा-- गुरुवार की शाम को पुलिस विभाग ने रामा विकास खण्ड के पारा क्षेत्र की ग्राम पंचायत कलमोडा मे खटला चोपाल का आयोजन किया। तेज आंधी के साथ  अचानक आई बारीश ने खाटला चोपाल पर पानी फेरने के कांेई कसर नही छोडी  विकट तम परिस्थिति होने के बावजुद पुलिस अधिक्षक महेश चन्द जेन खेत खलीहानो मे से होकर पेदल चलकर खाटला चोपाल पर पहुचे व ग्रामीणो से संवाद कर समझाईस दी। पुलिस विभाग द्वारा ग्राम कलमोडा मे आयोजित खाटला चोपाल मे पुलिस अधिक्षक महेश चन्द जेन ने ग्राम बराड,चुडेली, सागीया, तेजारीया,सेमलखेडी, पलासडी,घावलीया,बावडी व जसोदा आदी के उपस्थित ग्रामीणो से सीधे संवाद करते हुए कहा की वे अपने बच्चो का जीवन स्तर सुधारे, बच्चो को पढाए अच्छी शिक्षा दे। धुम्र पान निषेध  दिवस पर आयोजित की गई इस खाटला चोपाल मे श्री जेन ने ग्रामीणो से बिडी तम्बाखु व शराब छोडने का आहवान किया व बताया की वंे अपने शराब के पेसो को बचाकर अपने बच्चो की पढाई कपडो आदी पर खर्च करे। इससे परिवार के लोग भी सुख चेन से रहेगे। लडाई झगडे भी नही होगे व नही कोई अनहोनी दुर्घटना घटेगी। बालीका शिक्षा पर जोरदेते हुए कहा की अपने लडकीयो को जरुर पढाए व कम उम्र मे उनका विवाह न करे। दहेज दपा जेसी दारु जेसी कुरुतियो को छोडे। इस अवसर पर उपस्थित ग्रामीण जनो को नशा छोडने का संक्लप भी दिलवाया। पत्रकारो के चर्चा के दोरान पुलिस अधिक्षक श्री जेन ने बताया की झाबुआ आने बाद जन सुनवाई व प्रतिदिन आने वाली खबरो से पतप चला की जिले मे ज्यादा तर अपराध नाबालीग लडकीयो के अपहरण व भागा लेजाने के हे। शराब पीकर झगडने के हे तब मुझे लगा की इन करुतीयो को दुर करने के लिए प्रयास किए जावे। व दुरस्थ ग्रामीण अंचल मे जहा पहुचना ही दुर्लभ हो ऐसी जगह पर जाकर ग्रामीण लोगो को समझाया जावे जिससे की उनके जिवन मे बदलाव आए। हाला की परिणाम अभी कोसांे दुर हें। पर यदि समझाने से कुछ लोग भी बदले तो उनके जीवन मे आये बदलाव से कुछ लोग ओर बदलेगे।  इससे पुर्व जनपद सदस्य सावित्री सरदार सिह डावर  व कलमोडा की सरपंच ने पुलिस अधिक्षक श्री जेन व एसडीओपी श्री परिहार का स्वागत  बुके देकर किया व सरपंचो ने पुष्पमाला पहना कर स्वागत किया। इस अवसर सरदार सिह डावर, बसंत परमार, ठाकुर सिह बावडी सरपंच ,पुलिस कोतवाली झाबुआ के टीआई आर सी भास्करे,पारा चोकी प्रभारी के एस पाण्डव कई पुलिस कर्मी व बडी संख्या मे ग्रामीण महिलाए पुरुष उपस्थित थे। साथ ही खाटला चोपाल मे भोजन मे का आयोजन भी रखा गया था जिसमे उपस्थित सभी ग्रामीणो के साथ पुलिस अधिक्षक व मिडीया कर्मीयो ने भोजन किया।


बच्चों ने की शानदार प्रस्तुतियों ने बांधा समा, लोकरंग शिविर के बच्चों ने जीता सबका दिल 

jhabua news
झाबुआ । लोकरंग शिविर के समापन समारोह में बच्चों ने कला रंगों की ऐसी छटा बिखेरी कि कोई झाबुआ के उन उभरते हुए कलाकारों की तारीफ करने से खुद को नहीं रोक पाया । ढाई घंटे तक ट्राफिक गार्डन में गुरूवार की शाम को कलाकारों ने ऐसा समा बांधा कि ये शाम लोगों के यादगार शाम बन गई । लोकरंग शिविर का आयोजन 11 मई से किया जा रहा था, 21 दिन के भीतर इन बच्चों की तैयारियों और प्रदर्शन को देखकर हर कोई हैरत में था । नृत्य, नाटक, संगीत विधा के बच्चों ने सभी का दिल जीत लिया । कार्यक्रम की शुरूआत मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्जवलन के साथ हुई । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में नगरपालिका अध्यक्ष धनसिंह बारिया, एसपी महेशचंद जैन, रोटरी क्लब के अध्यक्ष उमंग सक्सेना इन बच्चों का उत्साह बढ़ाने पहुंचे थे । कार्यक्रम के बाद नपा अध्यक्ष धनसिंह बारिया ने कहा कि  इन बच्चों की प्रस्तुतियों देखकर निश्चित रूप से कहा जा सकता है,कि कला क्षेत्र में झाबुआ का भविष्य काफी उज्जवल हैं । उन्होंने कहा कि इन कलाकारों की मेहनत और हुनर को देखकर प्रसन्नता हुई, वे हमेशा इन कलाकारों और संस्था के सहयोग के लिए तैयार रहेंगे । एसपी महेश चंद जैन ने भी कार्यक्रम में बच्चों की प्रस्तुतियों को देखकर कहा कि झाबुआ का हुनर राष्ट्रीय स्तर के मंचों पर अपना जलवा बिखरने के लिए तैयार  । शानदार और कामयाब आयोजन के लिए सभी ने संस्था लोकरंग के कलाकारों और सदस्यों को बधाई दी ।

ये रहे आकर्षण
कार्यक्रम में अभिनंदन स्वागत गीत पर बच्चों की मनमोहक नृत्य प्रस्तुति ने लोगों को तारीफ करने पर मजबूर कर दिया । वहीं नन्हें कलाकारों का स्वच्छ भारत अभियान थीम पर प्रस्तुत नृत्य नाटिका को भी सभी ने मुक्तकंठ से सराहा । संगीत विधा कि डॉली सोलंकी की गिटार पर प्रस्तुतियों को भी पसंद किया गया । वहीं उभरते हुए डांस कलाकार जो देश-प्रदेश में कई मंचों पर अपनी प्रस्तुतियां दे चुके लोकरंग के राहुल डामोर के नृत्य को लोगों की और से खूब प्रतिसाद मिला ।  अंत में नाटक पोस्ट ऑफिस का मंचन किया गया । जिसकी प्रस्तुति झाबुआ और बड़ौदा के कलाकारों ने मिल कर दी थी । खत के इंतजार में पिता  की मनोदशा को प्रदर्शित करती इस सुंदर कहानी ने सभी की आंखे नम कर दी । कहानीकार धुमकेतु की कहानी को नाट्य में रूपांतरित किया था युवा रंगकर्मी रोहित प्रजापति ने, नाटक का निर्देशन किया था मयंक गढ़वी ने । कार्यक्रम के अंत में अथितियों द्वारा शिविर के बच्चों को प्रतीक चिन्ह भेंट किए गए । लोगरंग शिविर को सफल बनाने में आशीष पांडे, दीपक दोहरे, विकास पांडे, वैभव परमार,प्रवेश उपाध्याय,विपिन अडबालकर, ताहा अली खान,विशाल परमार,निधि सारोलकर, पूजा सोलंकी,महावीर परमार, मनोज नलवाय, सिद्धार्थ चैहान,अर्पित हनोतिया,हिंमाशु भूरिया,की सराहनीय भूमिका रही । कार्यक्रम में सभी अतिथियों, अभिभावकों, सहयोगियों का आभार संस्था के दीपक दोहरे ने माना ।

खेती करते समय प्राकृतिक घटना होने पर किसान को सहायता तत्काल दे-कृषि मंत्री बिसेन
  • तीन दिवसीय कृषि मेले का हुआ शुभारंभ

झाबुआ । जिले में आज कृषि विज्ञान केन्द्र परिसर में तीन दिवसीय कृषि विज्ञान मेले का शुभारंभ करते हुए कृषि मंत्री मध्यप्रदेश शासन श्री गोैरीशंकर बिसेन ने किसानो को संबोधित करते हुए कहा कि किसान बिना भेदभाव किये दिन रात मेहनत कर सभी देशवासियों के लिए खाद्यान्न उत्पन्न करता है। खेती करते समय किसानो को कई प्रकार के जोखिम का सामना करना होता है। आवष्यकता से अधिक पानी बरस जाना, कम पानी गिरना, ओले गिर जाना, सर्पदंष, बिजली करंट, पेड़ गिर जाना कई तरह की दुर्घटनाएं होती रहती है। इस तरह की घटनाएं कई किसानों को विकास की मुख्य धारा से पीछे धकेल देती है। षासन ने इसके लिए निर्धारित किया है कि कृषिगत आपदा और कृषिगत दुर्घटना अथवा कृषि कार्य करते समय किसान की मृत्यु हो जाये तो आर्थिक सहायता किसानों को उनके बैंक खातों मे तत्काल जमा हो जाये। किसान को आर्थिक सहायता देने की कार्यवाही प्रशासनिक अधिकारी त्वरित गति से करे। साथ ही उस किसान की मृत्यू होने पर पुलिस अधीक्षक यह सुनिश्चित करे कि उसे एफआईआर के मामले में ज्यादा परेषानी नहीं आए। कलेक्टर से लेकर पटवारी तक इस कार्य को अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी समझे और किसान को तत्काल 4 लाख रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने में संवेदनशीलता के साथ अपनी भूमिका निभाएं। कृषि मंत्री श्री बिसेन ने किसानों की खेती से जुड़ी समस्याओं को समझते हुए मंच से प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देष दिए कि किसानों के विवादों का निराकरण भी षीघ्र करे। मंत्री श्री बिसेन ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि किसान आने वाले समय को और बाजार की आवष्यकताओं को देखते हुए अपनी फसल का चुनाव करे। किसान के लिए षासन द्वारा अनेकों हितैषी योजना कृषि विभाग द्वारा प्रारंभ की गई है। इसके साथ ही किसान योजनाओं का लाभ लेते हुए तकनीकी पहलुओं को अपनाकर खेती को लाभ का धंधा बना सकता है। षासन इसके लिए हर संभव प्रयास कर रही है। किसान को घाटे की खेती करने के लिए मजबूर नहीं होना पडे। इसके लिए किसान अब स्वयं की पसंद के उपकरण खरीदे एवं शासन की योजनाओ का लाभ ले। अब एमीएग्रो से उपकरण खरीदने की बाध्यता को शासन द्वारा समाप्त कर दिया गया है। कृषि मेले में किसानों को क्षेत्रीय सांसद श्री कांतिलाल भूरिया ने भी संबोधित करते हुए कहा कि किसान उन्नत तकनीको का उपयोग कर फसल उत्पादन कर रहा है। फसलों का समर्थन मूल्य शासन द्वारा तय किये जाने से किसान को उचित भाव फसल का मिलने लगेगा और खेती किसान के लिए लाभ का धंधा बन सकेगी। कार्यक्रम में विधायक झाबुआ श्री शांतिलाल बिलवाल, विधायक थांदला श्री कलसिंह भाभर, विधायक पेटलावद सुश्री निर्मला भूरिया सहित जनप्रतिनिधि, कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना, पुलिस अधीक्षक श्री महेश चंद जैन, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अनुराग चोैधरी, एडीएम श्री दिलीप कपसे सहित प्रशासनिक अधिकारी एवं बडी संख्या में किसान उपस्थित थे। मेलें में स्वागत भाषण उप संचालक कृषि एवं किसान कल्याण श्री त्रिवेदी ने दिया एवं कार्यक्रम की रूपरेखा को बताया। मेले में उपस्थित हितग्राहियों को हितलाभ का वितरण भी अतिथियों द्वारा किया गया। मेला स्थल पर विभिन्न शासकीय विभागो द्वारा जनकल्याणकारी योजनाओं की प्रदर्शनी एवं स्टाल लगाकर योजनाओं से संबंधी प्रचार सामाग्री का वितरण किया गया। मेला स्थल पर स्वास्थ्य शिविर लगाकर आमजन को स्वास्थ्य सेवाएॅ भी उपलब्ध करवाई गई।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...