मधुबनी : जिला प्रशासन की हलचल (21 जून)

कलेक्टर ने खजौली में  औचक निरिक्षण किया 

madhubani DM madhubani SDM
मधुबनी, 21 जून; जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री शीर्षत कपिल अशोक ने खजौली स्थित विभिन्न सरकारी कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया। मधुबनी सदर की अनुमंडल पदाधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थी। प्रखंड कार्यालय में निरीक्षण के क्रम में वीरेन्द्र कुमार सिंह, जितेंद्र कुमार (नाजीर) अली अकबर (उर्दू अनुवादक), उमेष प्रसाद यादव, मिथिलेष कुमार, अमित कुमार (तीनों परिचारी) अनुपस्थित थे। प्रखंड पषुपालन पदाधिकारी के कार्यालय में कोई उपस्थित नहीं था। खुरहा-मुँहपका रोग का टीका असुरिक्षित ढंग से रखा हुआ था। एस.एफ.सी., गोदाम में चावल का कुछ बोरा खुला था तथा चावल जमीन पर बिखरा हुआ था। गोदाम मैनेजर अनुपस्थित थे। बाल विकास परियोजना कार्यालय में दो एल.एस. विंध्नवासिनी कुमारी तथा प्रिया गुप्ता अनुपस्थित थी। आर.टी.पी.एस. कार्यालय में अभिलेख का संधारण ठीक ढंग से नहीं किया जा रहा था। मनरेगा कार्यालय में कनीय अभियंता संगीता कुमारी अनुपस्थित थी। जांच के बाढ़ कलेक्तन ने निम्न निर्देश जारी किये, सभी अनुपस्थित कर्मियों का आज का वेतन स्थगित रहेगा तथा स्पष्टीकरण पूछा जाएगा। बी.डी.ओ., सी.डी.पी.ओ. कार्यालय के पास महिला षौचालय का निर्माण शीध्र करायें। सभी कार्यालयों को साफ-सुथरा तथा व्यवस्थित रखें। जिला पदाधिकारी ने खजौली थाना का निरीक्षण किया तथा थाना में चारदिवारी, पुलिस बैरक की स्थिति ठीक करने का निदेष दिया। उन्होंने वहाँ शांति समिति के सदस्यों को संबोधित किया तथा उनसे अनुरोध किया कि ईद पर्व तथा श्रावणी मेला के अवसर पर विधि व्यवस्था एवं षांति स्थापना में अपना सहयोग दें। यदि कोई व्यक्ति सामाजिक विद्वेष फैलाकर विधि-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न करेंगे तो उनके विरूद्व कडी कार्रवाई की जाएगी। जिला पदाधिकारी ने कमला बलान पष्चिमी तटबंध के सुक्की स्थित कटाव स्थल तथा सुक्की साइफन का भी निरीक्षण किया। तटबंध के निरीक्षण के समय बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल-2 के कार्यपालक अभियंता, झंझारपुर श्री मिथिलेष कुमार सिंह भी उपस्थित थे।   उन्होंने ने बताया कि बाढ पूर्व कटाव निरोधीकार्य पूरा किया जा चुका है।

कलेक्टर ने बाढ़ के तैयारी की समीक्षा की 

मधुबनी, 21 जून; आज समाहरणालय सभा कक्ष में जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री शीर्षत कपिल अशोक ने संभावित बाढ की तैयारी से संबंधित समीक्षा बैठक की। उनके साथ पुलिस अधीक्षक, मधुबनी श्री दीपक बरनवाल भी उपस्थित थे। जिला पदाधिकारी ने सभी अंचल में वर्षा मापक यंत्र, बाढ प्रभावित संभावित क्षेत्र तथा व्यक्ति समूह की पहचान से संबंधित कार्य, निजी एवं सरकारी नाव की जिले में उपलब्धता, सरकारी नाव की मरम्मति आदि की समीक्षा की। उन्होंने सभी अंचल अधिकारी को निदेषित किया कि वे सभी सरकारी नाव को खुद देख लें। उन्होंने सिविल सर्जन को निदेष दिया कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंन्द्र में कुत्ता काटने, सांप काटने पर दी जाने वाली दवा, एंटी डायरियल दवा की पर्याप्त मात्रा बाढ के दिनों में रखें। उन्होंने सभी एस.डी.ओ. को यह सुनिष्चित करने का निदेष दिया कि उनके सभी अंचल में नाविक की बकाया मजदूरी का भुगतान शीध्र हो जाए। जिला पदाधिकारी ने कहा कि कल तक एस.डी.ओ. झंझारपुर तथा कार्यपालक अभियंता, बाढ नियंत्रण प्रमंडल बनौर गाॅव में तटबंध का संयुक्त निरीक्षण कर लें। उन्होंने यह भी कहा कि बाढ नियंत्रण प्रमंडल द्वारा इस वर्ष जो भी कार्य किया गया है, सभी अंचल अधिकारी उसका भौतिक सत्यापन कर लें तथा अपने एस.डी.ओ. को प्रतिवेदित करें। हर नाव पर दो लाइफ जैकेट की व्यवस्था अवष्य रखें। उन्होंने होमगार्डस के कमांडेट को निदेष दिया कि उसी क्षेत्र के ही होमगार्डस की प्रतिनियुक्ति तटबंध पर करें तथा उनकी जिम्मेवारी निर्धारित करें। जिला पदाधिकारी ने सभी पदाधिकारियों को बाढ के दौरान एलर्ट मोड में रहने को कहा तथा कहा कि षिथिलता पर त्वरित कारवाई होगी। उपस्थिति- अपर समाहत्र्ता, सिविल सर्जन, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (षिक्षा) सभी एस.डी.ओ., सी.ओ., बाढ नियंत्रण से संबंधित अभियंता गण, प्रभारी पदाधिकारी आपदा आदि।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...