मोदी सरकार में हुआ निजी निवेश खत्म : मनमोहन

modi-s-government-ends-private-investment-manmohan
नयी दिल्ली, 06 जून, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आरोप लगाया है कि देश की अर्थव्यवस्था सिर्फ सरकारी खर्च पर चल रही है और निजी क्षेत्र का निवेश पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है। डॉ सिंह ने कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारक संस्था कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में कहा कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के हाल में जो आंकड़े जारी हुए हैं] उसमें विकास दर घटी है। उन्होंने आरोप लगाया कि देश की अर्थव्यवस्था को मोदी सरकार ने कमजोर कर दिया है। पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था एक पहिए यानी सिर्फ सरकारी खर्च पर चल रही है। निजी क्षेत्र विकास कार्यों में निवेश नहीं कर रहा है और उसका निवेश एक तरह से खत्म हो गया है। सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि देश में नौकरियों के अवसर बहुत तेजी से घट गए हैं। निर्माण क्षेत्र में रेाजगार के सबसे ज्यादा अवसर थे लेकिन वह पूरी तरह से संकट के दौर से गुजर रही है। उन्होंने कहा कि कुल मूल्य संवर्द्धन (जीवीए) की दर में भी गिरावट आई है। जीवीए की दर मार्च 2016 के 10.3 प्रतिशत से गिरकर इस साल मार्च में महज 3.8 प्रतिशत रह गयी है। उन्होंने कहा कि यह गिरावट करीब सात प्रतिशत की है और यह बहुत चिंता का विषय है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...