नई उद्योग नीति राज्य,उद्यमियों तथा जनता के हित से जुड़ी होनी चाहिए : योगी

new-industry-policy-state-entrepreneurs-people-interest-yogi
लखनऊ 01 जून, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि नई उद्योग नीति राज्य,उद्यमियों तथा जनता के हित से जुड़ी होनी चाहिए जिससे अधिक से अधिक रोजगार सृजन तथा संतुलित आर्थिक विकास को बढ़ावा मिले। श्री योगी ने कल रात यहां उत्तर प्रदेश औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति, 2017 की समीक्षा बैठक के दौरान नीति से जुड़े सभी महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर विस्तृत विचार-विमर्श किया और अपने सुझाव भी दिए। उन्होंने कहा कि नई नीति उत्तर प्रदेश को निवेश गंतव्य के रूप में स्थापित करने के साथ-साथ राज्य, उद्यमियों तथा जनता के हित से जुड़ी होनी चाहिए। इसके लिए पूंजी निवेश को आकर्षित करने के साथ-साथ बुनियादी अवस्थापना सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं तथा प्रक्रियाओं का सरलीकरण किया जाए। सुरक्षा का वातावरण हो, कानून व्यवस्था तथा विद्युत आपूर्ति के प्रबन्ध किए जाएं। पूर्वांचल और बुन्देलखण्ड तथा अन्य पिछड़े क्षेत्रों में उद्योगों की स्थापना के लिए विशेष प्रोत्साहन दिए जाने की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। उत्तर प्रदेश को एक विस्तृत आबादी और बड़ा बाजार बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को बढ़ावा देने के साथ-साथ युवाओं में उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने पर विशेष फोकस किया जाए। नीति ऐसी बने, जिससे युवाओं में आत्मनिर्भरता और रोजगार सृजन को बढ़ावा मिले। एक अनुकूल औद्योगिक वातावरण बनाते हुए व्यापार करने में सहजता को विकसित किया जाए।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...