प्रणव राॅय पर सीबीआई के छापे, एनडीटीवी का झूठे मामले में फंसाने का आरोप

pranav-rai-cbi-raids-ndtv-false-cases-trapping-allegations
नयी दिल्ली, 05 जून, निजी क्षेत्र के आईसीआईसीआई बैंक को कथित तौर पर 48 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाने के आरोप में केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने एनडीटीवी के सह संस्थापक और सह अध्यक्ष प्रणव राॅय उनकी पत्नी राधिका राय, एक निजी कंपनी समेत अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर आज दिल्ली तथा देहरादून में छापे डाले। सीबीआई ने बताया कि श्री राय के दिल्ली स्थित आवास पर छापा डाला गया। ब्यूरो ने सभी पर आईसीआईसीआई बैंक को 48 करोड़ रुपये का कथित नुकसान पहुंचाने का मामला भी दर्ज किया है। इस सिलिसले में ब्यूरो ने दिल्ली और देहरादून में चार जगहों पर छापेमारी की। देहरादून में श्री राॅय के घर तड़के और दिल्ली में सुबह आठ बजे के आसपास सीबीआई ने छापेमारी की। सीबीआई सुबह आठ बजे के करीब श्री राय के ग्रेटर कैलाश पार्ट एक आवास पहुंची और बैंक के साथ कथित धोखाधड़ी के मामले में उनसे और उनकी पत्नी से पूछताछ की। छापों पर एनडीटीवी ने सफाई देते हुए परेशान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि श्री राॅय को झूठे मामले में फंसाया जा रहा है। ब्यूरो पुराने आरोपों के जरिये एनडीटीवी और उसके प्रवर्तकों को केवल परेशान कर रही है। उसने कहा हम देश के लिये लड़ेंगे और ऐसी ताकतों का विरोध करते रहेंगे। यह लोकतंत्र को नुकसान पहुंचाने और अभिव्यक्ति की आजादी छीनने की कोशिश है और हम इससे डरने वाले नहीं हैं। केन्द्रीय सूचना मंत्री वेंकैया नायडू ने सीबीआई के छापों पर कहा कि सरकार किसी मामले में हस्तक्षेप नहीं करती है। ब्यूरो को कुछ जानकारी हाथ लगी होगी इसलिये यह कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा कानून अपना काम कर रहा है। भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने श्री राॅय पर सीबीआई के छापों पर कहा “ चाहे कोई भी कानून का डर आवश्यक है। यह सभी पर लागू होना चाहिये, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन है। ” कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री आॅस्कर फर्नांडीस ने कहा “ आप जानते है कि देश में क्या चल रहा है, आप (मीडिया) को निर्णय लेना है कि क्या करना है। ” गौरतलब है कि श्री स्वामी ने गत वर्ष प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर हवाला के आरोप लगाये थे और भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम के तहत सीबीआई को एनडीटीवी के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश दिये जाने की गुजारिश भी की थी।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...