रोजगार के घटने के श्रम ब्यूरो के आंकड़े खारिज किये रुड़ी ने

rudy-rejects-labor-bureau-s-statistics-of-employment-reduction
नयी दिल्ली 18 जून, केंद्रीय कौशल विकास मंत्री ने रोजगार के अवसर घटने के श्रम ब्यूरो के आंकड़ों को सिरे से खारिज करते हुए कहा है कि ये त्रुटि पूर्ण पद्धति, अपर्याप्त सर्वेक्षण, छाेटे क्षेत्र और गलत स्थानों के अध्ययन पर आधारित है। श्री रुड़ी ने यूनीवार्ता के साथ विशेष बातचीत में कहा, ‘‘ श्रम ब्यूरो का सर्वेक्षण आठ उद्योग क्षेत्रों और 10 से अधिक कर्मचारी वाली उद्याेग इकाईयों पर आधारित है। इसमें कृषि क्षेत्र के रोजगार के अवसराें को शामिल नहीं किया जाता है।” उन्होंने कहा कि श्रम ब्यूरो अपने अध्ययन में आठ उद्याेग क्षेत्रों में 10 से अधिक कर्मचारी वाली इकाईयों को शामिल करता है। इसका तात्पर्य है कि इस सर्वेक्षण में केवल तीन करोड श्रमिकों को शामिल किया जाता है। कृषि जैसे क्षेत्र को छोड़ दिया जाता है जहां 47 करोड़ से ज्यादा लोग काम कर रहे हैं। श्रम ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2015 और 2016 में रोजगार के अवसर वर्ष 2009 के बाद से सबसे कम रहे हैं। उन्होंने कहा कि ये आंकड़े पूरे देश के रोजगार के अवसरों को दिखाने के लिए पर्याप्त नहीं है। ये आंकडे गैर कृषि आर्थिक गतिविधियों के हैं। इनमें कृषि क्षेत्र में काम कर रहे लोगों को शामिल नहीं किया गया है। श्रम ब्यूरो के आंकड़ों में मात्र 11 राज्यों को शामिल किया जाता है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...