दुमका : तबादला के बाद भी कतिपय रेंजर पुराने स्थान पर कुंडली मारे बैठे हैं,

  • उच्च पदाधिकारियों को सरकार के आदेश का भय नहीं। 

jharkhand map
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) सरकार के संयुक्त सचिव, वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, झारखण्ड, राँची ने अधिसूचना ज्ञापांक 05/वन क्षेत्र पदा0 (स्थापना) 137/ 2015 -2020, 2021, 2022, 2023 व 2024 के माध्यम से सूबे के अलग-अलग जिलों यथा जामताड़ा, दुमका, कुडू, लोहरदगा,  लोहरदगा मुख्यालय व राँची सौन्दर्यीकरण प्रक्षेत्र, वन प्रमण्डल, राँची के कुल 5 रेंजरों का तबादला 15 मई 2017 के पत्र से किये जाने के बावजूद कतिपय ऐसे रेंजर हैं जिन्होनें नये पदस्थापना स्थल पर आज तक योगदान नहीं किया। सरकारी आदेश का पालन न करने वाले ऐसे पदाधिकारियेां के विरुद्ध पूर्व विधायक कमलाकांत प्रसाद सिन्हा ने सरकार से अनुरोध करते हुए दण्डात्मक कार्रवाई की बात कही है। एक माह गुजर जाने के बाद भी सरकारी आदेश का पालन न कर कतिपय रेंजरों द्वारा पूर्व के स्थान पर ही बने रहने से डीएफओ पर ही सवाल खड़े होने लगे हैं कि आखिर किन चीजों को ध्यान में रखकर उन्हें अब तक विरमित नहीं किया गया है। अलग-अलग पार्टियों के कुछ स्थानीय नेताओं ने कहा है कि मार्च 2017 में ही दुमका वन प्रमण्डल द्वारा रेलवे (दुमका जिला में जहाँ तक रेलवे लाईन बिछी है) लाईन के बाजू में बाँस घेरा व पेड़ों को लगाए जाने से संबंधित प्राप्त (काफी मोटी राशि) आवंटन को दस्तावेजों में ही खर्च दिखला दिया गया जबकि वास्तव में आवंटित राशियों से अभी तक काम कराया जा रहा है। प्रतीत होता है कि वन विभाग, दुमका में एक बड़े घोटाले को इस तरह अंजाम दिया जा रहा है। विदित हो, वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग, झारखण्ड सरकार ने अधिसूचना संख्या ज्ञापांक 05/वन क्षेत्र पदा0 (स्थापना) 137/ 2015 -2020, 2021, 2022, 2023 व 2024 के माध्यम से वन क्षेत्र पदाधिकारी, जामताड़ा सामाजिक वानिकी प्रक्षेत्र दुमका वन प्रमण्डल को स्थानान्तरित करते हुए वन क्षेत्र पदा0, जामताड़ा सामाजिक वानिकी प्रक्षेत्र, दुमका सामाजिक वानिकी प्रमण्डल के पद पर, सच्चिदानन्द ठाकुर वन क्षेत्र पदा0 हिजला पूर्वी प्रक्षेत्र, दुमका वन प्रमण्डल को स्थानान्तरित करते हुए वन क्षेत्र पदा0 जामताड़ा सामाजिक वानिकी प्रक्षेत्र, दुमका सामाजिक वानिकी प्रमण्डल के पद पर। चन्द्रशेखर आजाद रेंजर कुडू प्रक्षेत्र, लोहरदगा वन प्रमण्डल को स्थानान्तरित करते हुए काॅके प्रक्षेत्र, राँची वन प्रमण्डल। लोहरदगा प्रक्षेत्र के रेंजर सुरेश टोप्पो को राँची सौन्दर्यीकरण प्रक्षेत्र, राँची वन प्रमण्डल व राँची सौन्दर्यीकरण प्रक्षेत्र के रेंजर आभा ंिसंह को कुडू प्रक्षेत्र लोहरदगा वन प्रमण्डल के पद पर पदस्थापित किया गया। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार उप राजधानी दुमका के शिकारीपाड़ा प्रखण्ड में कई ऐसे अवैध पत्थर खदान व क्रशर उद्योग संचालित हैं जो वनभूमि पर हैं तथापि वन विभाग की ओर से मााफियाओं के विरुद्ध न तो कोई कार्रवाई हो रही है और न ही सरकार को वास्तविकताओं से ही अवगत कराया जा रहा है। कई ऐसे स्थानों पर फाॅरेस्ट लैंउ (वनभूमि) जहाँ भारी मात्रा में कोयला का अवैध उत्खनन जारी है। वन क्षेत्र पदाधिकारी हिजला पूर्वी प्रक्षेत्र को इस एवज में नियमित रुप से मोटी रकम दी जाती है। उप राजधानी के कई प्रबुद्ध नागरिकों सहित पर्यावरण प्रेमियों ने इसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की उम्मीद राज्य सरकार से की है। विदित हो वन विभाग मुख्यमंत्री के ही जिम्मे हैं। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...