मंदसौर से कर्फ्यू पूरी तरह हटा, पटरी पर लौट रहा समूचा मध्यप्रदेश

urfew-removed-completely-from-mandsaur
भोपाल, 11 जून, मध्यप्रदेश के मंदसौर में कई दिनों की अशांति के बाद स्थितियां अब करीब-करीब नियंत्रण में होने के चलते कर्फ्यू पूरी तरह हटा लिया गया है। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कल से प्रदेश में शांति बहाल होने तक अनिश्चितकालीन उपवास पर बैठने के साथ राज्य के अन्य हिस्सों से भी अब लगभग शांति कायम होने की खबरें हैं। हालांकि किसान आंदोलन के दौरान उपद्रव का सामना कर चुके जिलों में पुलिस प्रशासन पूरी मुस्तैदी करते हुए है। मंदसौर पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने दूरभाष पर यूनीवार्ता को बताया कि पिपल्यामंडी समेत पूरे मंदसौर से कर्फ्यू हटा लिया गया है। स्थितियां पूरी तरह नियंत्रण में हैं। हालांकि अतिरिक्त सुरक्षा बल अब भी ऐहतियातन तैनात हैं। सार्वजनिक परिवहन भी शुरु हो गया है। मंदसौर में कल रात कर्फ्यू हटने के चलते आज कई दिन बाद बाजार पूरे दिन खुले रहेंगे। वहीं प्रदेश के मंदसौर, नीमच, रतलाम और उज्जैन में कई दिन से बंद नेट सेवाओं की भी बहाली कर दी गई है। प्रशासन ने अफवाहों को रोकने के लिए नेट सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया था। यहां मिली खबरों के मुताबिक राजधानी भाेपाल समेत इंदौर, नीमच, धार, राजगढ़, रतलाम, शाजापुर, देवास, सीहोर और आगर-मालवा समेत अन्य जिलों से भी शांति कायम होने की सूचना है। बीते दस दिनों के दौरान राज्य के पश्चिमी हिस्से के इन जिलों में किसान आंदोलन के दौरान हिंसा, आगजनी, पथराव और तोडफोड की दर्जनों घटनाएं दर्ज हुयी हैं। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि पुलिस प्रशासन भी उपद्रवी तत्वों की पहचान कर रहा है और उनके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जा रही है। अराजकता फैलाने वाले तत्वों से भी सख्ती से निपटने के लिए कहा गया है। इसके अलावा गुप्तचर तंत्र को भी और अधिक सक्रियता के साथ कार्य करने के लिए कहा गया है। कल से राजधानी भोपाल में प्रदेश भर के किसान जुट रहे हैं। किसानों के प्रतिनिधिमंडलों की मुख्यमंत्री श्री चौहान से अपनी मांगों और समस्याओं के संंबंध में चर्चा हो रही है।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...