विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 18 जून

श्रद्वालुओं को असुविधा ना हो का पूरा ध्यान रखा जाएं-कलेक्टर
  • मानोरा मेला तैयारियों की समीक्षा बैठक

vidisha news
कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने मानोरा मेला के आयोजन पूर्व की जाने वाली तैयारियों के मद्देनजर की जाने वाली व्यवस्थाओं का आज अंतिम जायजा लिया। मानोरा मेला 24 जून से 26 जून तक आयोजित होगा। मेला के मददेनजर पूर्व की बैठक में उनके द्वारा दिए गए निर्देशो के परिपालन में विभागों के अधिकारियों द्वारा क्रियान्वित गतिविधियों एवं व्यवस्थाओं से अवगत कराया गया। मानोरा के सामुदायिक भवन मंें हुई इस बैठक में विधायक द्वय श्री कल्याण सिंह ठाकुर, श्री निशंक जैन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी समेत अन्य जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे। कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने कहा कि जिन विभागों के द्वारा गत वर्ष व्यवस्थाओं का क्रियान्वयन किया गया था उन्हें पुनः इस वर्ष जबावदेंही सौंपी जा रही है। जिसका क्रियान्वयन वे बेहतर करें। उन्होंने कहा कि मेला में शामिल होने वाले श्रद्वालुगणों को किसी भी प्रकार की अव्यवस्थाओं का सामना ना करना पडे का पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने संबंधित विभागों के अधिकारियों से कहा कि वे स्वंय अपने अधीनस्थ अमले के साथ मेला अवधि में मौजूद रहें ताकि किसी भी प्रकार की अव्यवस्था निर्मित ना हो सकें। उन्होंने कहा कि जिन अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जो दायित्व सौंपे गए है उसका निर्वहन वे पूर्ण ईमानदारी एवं समय सीमा का ध्यान रखते हुए क्रियान्वयन करें। 


अस्थायी दरवाजे
श्रद्वालुओं के लिए मानोरा मुख्य मंदिर मंे प्रवेश हेतु पृथक से दो अस्थायी दरवाजे बनाए जाने का सुझाव प्राप्त हुआ जिस पर मंदिर समिति के सदस्यों ने भी सहमति व्यक्त की है। 

डीपी/बिजली आपूर्ति
मानोरा मंे पृथक से डीपी रखने हेतु विधायक द्वय द्वारा अपनी स्वेच्छानिधि से राशि देने की स्वीकृति प्रदान की। ताकि मेला अवधि में बिजली आपूर्ति सतत बनी रहें। कलेक्टटर श्री सुचारी ने  ऊर्जा विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे बिजली की आपूर्ति मेला अवधि में सतत बनी रहे इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्थाओं का भी क्रियान्वयन करें। वही आवश्यकता पड़ने पर जनरेटरों की आपूर्ति कराए जाने के निर्देश संबंधितों को दिए गए।  भगवान जगदीश स्वामी रथ के मार्ग के दोनो तरफ इस बार किसी भी प्रकार की दुकान ना लगाई जाए और मेला समिति के द्वारा रूटचार्ट के अनुसार दोनो तरफ के स्थलों को खाली रखने के दिए गए सुझाव पर अमल पर सहमति व्यक्त की गई वही रथ के साथ-साथ अन्य स्थलों पर दान पेटियां लगाने पर भी सहमति व्यक्त की गई। 

सीसी कैमरे 
मानोरा मेला में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए चहुंओर सीसी कैमरे लगाए जाएंगे जो रात्रि में भी क्रियाशील रहेगे। जिनका नियंत्रण पुलिस कंट्रोल रूम से होगा। पुलिस कंट्रोल रूम शासकीय स्कूल मानोरा के कक्ष में बनाया गया है। 

साफ-सफाई
मेला आयोजन के पूर्व और पश्चात् क्षेत्र में साफ-सफाई का दायित्व निभाने के लिए सफाई दल गठित किए गए है वही मेला अवधि में अस्थाई शौचालय बनाए जाने पर भी सहमति व्यक्त की गई।

पेयजल आपूर्ति
मानोरा मेला में आने वाले श्रद्धालुओं को स्वच्छ पेयजल आपूर्ति में किसी भी प्रकार की दिक्कत ना हो। इसके लिए विभिन्न स्थलों पर पानी के टेंकर रखे जाएंगे। इसके अलावा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के द्वारा मानोरा ग्राम के सभी हेण्ड पंपो, नलजल योजनाओं को दुरूस्त किया जा चुका है क्षेत्र के पेयजल के अन्य स्त्रोतांें में ब्लीचिंग एवं क्लोरीन डालने की कार्यवाही भी पूर्ण की जा चुकी है। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक टेंकर में 24-24 नल टोटियों के माध्यम से भी पेयजल व्यवस्थाओं का क्रियान्वयन किया जाएगा। विभाग का अमला एवं लाइनमैन मेला अवधि में तैनात रहेंगे। 

जल निकासी
मेला परिसर से दूषित जल निकासी के लिए नालियों मेें बडे पाईप डालने का कार्य पूर्ण किया जा चुका है। वही मुख्य सड़कों पर वर्षारूपी जल संग्रहित ना हो इसके लिए उनके किनारे भी नालियांे की संरचनाआंे का निर्माण किया जाएगा।

हाॅकर जोन
मानोरा मेला में हाॅकर जोन बनाये गए है मेला प्रागंण में दुकानदारों के लिए दुकानों के आवंटन भूमि पर भी निर्णय लिया गया है। तदानुसार मुख्य मार्ग पर सौ रूपए प्रति स्क्वायर फीट के मान से तथा पीछे की ओर पचास रूपए प्रति स्क्वायर फीट के मान से दुकानों हेतु स्थलों का आवंटन किया जाएगा। बैठक में बताया गया कि हाइवे रोड के किनारे किसी भी प्रकार से दुकान का संचालन नही किया जाएगा।  

सड़कों पर प्रतिबंध
मानोरा मेला परिसर की सड़कों पर विभिन्न प्रकार की सामग्री के विक्रय पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है। कोई भी व्यक्ति सड़कों पर लेकर सामानो की विक्रय नही करेगा। उक्त कार्यवाही पर नजर रखने के लिए भी दल गठित किए जाएंगे है जो प्रमुख सड़कों पर भ्रमण करते रहेंगे और यदि कोई व्यक्ति सड़कों पर सामान बेचते हुए पाया गया तो उस पर कार्यवाही करेंगे। मेला परिसर की प्रमुख सड़कों से पांच फिट दूर हाॅकर जोन बनाए जाएंगे। 


कंट्रोल रूम
मानोरा के सामुदायिक भवन में सामान्य तथा स्कूल प्रागंण में पुलिस कंट्रोल बनाया जाएगा ताकि कानून व्यवस्था पर सतत नजर रखी जाए। कंट्रोल रूम 24 घंटे क्रियाशील रहेगा। 

यातायात
मेला अवधि के दौरान यातायात व्यवस्था सुगमता से संचालित हो सकें इसके लिए पुलिस प्रशासन द्वारा व्यापक व्यवस्था सुनिश्चित की जाएंगी। कोई भी वाहन मुख्य सड़क से मेला परिसर की सड़कों पर प्रवेश नही कर सकेगा जिसमें दो पहिया वाहन भी शामिल हैै। मेला अवधि के दौरान यदि वर्षा होती है तो बडे वाहनों को अटारीखेजडा पर ही रोका जाएगा। अटारीखेजडा से मानोरा तक श्रद्वालुओं को लाने ले जाने हेतु चुनिंदा वाहनों को अनमुति प्रदान की जाएगी। जिन वाहनों को अनुमति दी जाएगी वे वाहन ही उक्त मार्ग पर आना जाना करेंगे। सागर की ओर से आने वाले बडे वाहनों का प्रवेश चैबीस जून से ही वर्जित रहेगा। इसी प्रकार विदिशा की ओर से जाने वाले बडे वाहनों पर भी लागू होगा। 

पार्किंग
मानोरा मेला में आने वाले वाहनो के लिए पृथक-पृथक पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी। ग्यारसपुर की ओर से आने वाले वाहन और विदिशा की ओर से आने वाले वाहनो के लिए अलग-अलग पार्किंग स्थल चिन्हित किए जाएंगे इसके अलावा आवश्यकता पड़ने पर मुख्य सड़क के एक तरफ फोर व्हीकल एवं टेªक्टर ट्रालियां खड़ी की जाएगी और दूसरी और दो पहिया वाहनों को खड़ा किया जाएगा। आवश्यकता पड़ने पर मानोरा के हाई स्कूल में भी टू-व्हीलर पार्किंग की व्यवस्थाओं का क्रियान्वयन किया जाएगा। 

सड़कों की मरम्मत
मानोरा ग्राम को जोड़ने वाली मुख्य एवं सहायक सड़कों पर भी विचार विमर्श किया गया और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए। जिन सड़कों की मरम्मत कराई जानी है उन पर संबंधित विभाग मेला प्रारंभ होने के एक सप्ताह पहले मरम्मत कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिए गए है। 

चिकित्सा व्यवस्था
मेला अवधि में चिकित्सा व्यवस्थाएं चुस्त रहेगी इसके लिए बकायदा चिकित्सक दल एवं एम्बुलेंस मौजूद रहेंगे ताकि यदि किसी श्रद्धालुगणों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ता है तो उन्हें अविलम्ब चिकित्सकों द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण किया जा सकें और उन्हें निःशुल्क दवाई दी जाएगी के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को दिए गए। 

फायर बिग्रेड
मेला परिसर में फायर बिग्रेड भी तैनात की जाएगी इसके लिए विदिशा एवं बासौदा नगरपालिका के अधिकारियांे से सतत सम्पर्क कर कार्य पूर्ति की आवश्यक जबावदेंही सौंपी गई है। 

मवेशियों को बांध कर रखें
मेला अवधि के दौरान प्रायः देखने में आया है कि मवेशियों के कारण श्रद्धालुगणों को कई बार असुविधाओं का सामना करना पड़ता है ततसंबंध में क्षेत्र के पशुपालकों से आग्रह किया कि वे अपने पशुओं को नियत स्थलो पर ही बांध कर रखें। 

सांसद द्वारा राशि
स्थानीय सांसद श्रीमती सुषमा स्वराज के द्वारा मानोरा मेला के लिए बाइस लाख रूपए देने की घोषणा की गई जिससे सुलभ काम्पलेक्स एवं ट्यूबवेल खनन कार्य कराया जाएगा। 

विधायकनिधि
विदिशा विधायक श्री कल्याण सिंह ठाकुर और बासौदा विधायक श्री निशंक जैन ने मानोरा मेला के प्रवेश द्वार के निर्माण हेतु आवश्यक राशि विधायकनिधि से देने की घोषणा की। 

अतिक्रमण
कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि मेला परिसर में हुए अतिक्रमण को अविलम्ब हटाया जाए जिसमें स्थानीय नागरिको का सहयोग प्राप्त किया जाए। उन्होंने एसडीएम को निर्देश दिए कि मानोरा मेला की भूमि का सीमांकन कर मेला समिति को अवगत कराएं। 

सुरक्षा समिति
कलेक्टर श्री अनिल सुचारी ने मानोरा मेला में सुरक्षा के दायित्वों को निर्वहन करने वाले अधिकारी, कर्मचारियों से कहा कि वे पूर्ण सजगता से अपने दायित्वों का निर्वहन करें। पुलिस अधीक्षक श्री चैधरी ने बताया कि ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों को विशेष पुलिस के अधिकार मेला अवधि में प्रदाय किए जाएंगे। उन्होंने संबंधितों से कहा वे तैनात स्थलों पर अपने दायित्वों का निर्वहन पूर्ण ईमानदारी से करें। उक्त कार्य में पुलिस, वन रक्षक एवं ग्राम सुरक्षा समिति के सदस्यों को विभिन्न स्थलों पर क्रमशः आठ-आठ घंटे के लिए तैनात किया जाएगा। उक्त बैठक में बासौदा के पूर्व विधायक श्री हरिसिंह रघुवंशी, काॅ-आपरेटिव बैंक के अध्यक्ष श्री श्यामसुन्दर शर्मा, ग्यारसपुर जनपद पंचायत के पूर्व द्वय अध्यक्ष श्री रघुवीर सिंह दांगी, श्री छत्रपाल शर्मा के अलावा अन्य जनप्रतिनिधि, अपर कलेक्टर श्री एचपी वर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री विनोद कुमार चैहान एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...