दुनिया भर में योग की धूम मगर योग प्रणेता पंतजलि की जन्मभूमि पर सन्नाटा

yog-booms-all-over-the-world-but-birth-place-of-the-father-of-yog-remains-in-silence गोण्डा 21 जून, स्वस्थ अौर निरोगी काया के लिये योग को जीवनशैली का हिस्सा बनाते हुये पूरी दुनिया ने आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को उत्साह के साथ मनाया मगर विडंबना है कि इस माैके पर योग के प्रणेता महर्षि पंतजलि की जन्मभूमि में आमतौर पर सन्नाटा पसरा रहा। उत्तर प्रदेश में गोण्डा जिले के वजीरगंज क्षेत्र के कोडर गांव मे स्थित महायोगी महर्षि पतंजलि की जन्मस्थली अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भी शबरी की भाँति तारणहारो की राह तकती रह गई लेकिन पक्ष-विपक्ष का कोई भी नेता, जनप्रतिनिधि या अधिकारी जन्मस्थली पर योग करने नहीं पहुंचा। भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने हालांकि गोण्डा में स्थित महर्षि पतंजलि स्पोर्ट्स मल्टी काम्प्लेक्स में योग के दौरान पत्रकारों से कहा कि महर्षि पतंजलि की जन्मस्थली के जीर्णोंद्धार के लिये सरकार गम्भीर है और शीघ्र ही खाका तैयार कर जन्मभूमि को भव्य रुप दिया जायेगा। स्थानीय ग्रामीणों और जन्मभूमि न्यास का मानना है कि पिछली सरकारो ने भी उनसे इस तरह के वादे किये थे मगर योग प्रणेता की जन्मस्थल के बद से बदहाल स्थिति में जाने के बावजूद किसी सरकार या जनप्रतिनिधि ने यहां की तरफ मुंह उठाने की जहमत नहीं की है। विकास न होने से जन्मभूमि से जुड़े योगियों की आस टूटती नज़र आ रही है।  
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...