2017 को गरीब कल्याण वर्ष के रुप में मनायेगी योगी सरकार

yogi-sarkar-will-celebrate-2017-as-poor-welfare-year
लखनऊ 27 जून, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्ष 2017 को गरीब कल्याण वर्ष के रुप में मनाने की घोषणा करते हुए आज कहा कि पिछले 15 वर्षो की सरकारों ने उत्तर प्रदेश को भ्रष्टाचार और परिवारवाद के जरिये बदहाल कर दिया, अपनी सरकार के 100 दिन पूरा होने पर श्री योगी ने पत्रकारों से कहा कि वह ‘सबका साथ सबका विकास’ नारे के साथ काम कर रहे हैं, जाति और धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जा रहा है। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) का नाम लिये बगैर मुख्यमंत्री ने कहा कि 14-15 वर्षो में राज्य को भ्रष्टाचार के दलदल में धकेल दिया गया। परिवारवाद का नंगा नाच किया गया। कानून व्यवस्था को सुदृढ करने के लिये ठोस उपाय नहीं किये गये। युवाओं में जोश भरने के लिये 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश दिवस मनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार कानून का राज स्थापित करने के लिये कडे कदम उठा रही है। बगैर भेदभाव के कार्रवाई सुनिश्चित कराया जा रहा है। कानून व्यवस्था के साथ ही शिक्षा के उन्नयन के लिये कई कदम उठा रही है। उनका कहना था कि गरीबों का सशक्तिकरण उनकी सरकार का लक्ष्य है। अपनी सरकार के 100 दिनों के कार्यो को दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय योजना की पहल बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य को विकास के रास्ते पर आगे बढाना है। लक्ष्य और संकल्प के साथ सुशासन की स्थापना के गंभीर प्रयास किये जा रहे हैं।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...