जीएसटी के कारण पैदा अवसरों का लाभ उठायें आसियान निवेशक : सुषमा

ASEAN-Investor-take-advantage-of-opportunities-created-due-to-gst
नयी दिल्ली 04 जुलाई, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भारत एवं आसियान के बीच सहयोग को सुरक्षा एवं स्थिरता के धरातल पर कारोबार, कनेक्टिविटी और संस्कृति के तीन पहियों पर आगे बढ़ाने का आह्वान करते हुए आज कहा कि देश में माल एवं सेवा कर (जीएसटी) के आने के बाद कारोबार एवं निवेश के अवसर बढ़े हैं। श्रीमती स्वराज ने यहां आसियान भारत मंत्रिस्तरीय संवाद ‘दिल्ली डॉयलॉग’ का उद्घाटन करने के बाद समारोह को संबोधित करते “नौवहन की स्वतंत्रता” और अंतरराष्ट्रीय सीमाओं का सम्मान करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि आसियान एवं भारत के बीच अगले 25 साल का सहयोग कारोबार, कनेक्टिविटी और संस्कृति से तय होगा और इसके लिए स्थिरता एवं सुरक्षा जरूरी होगी। उन्होंने कहा कि भारत आज दुनिया की सबसे तेज़ गति से बढ़ती अर्थव्यवस्था वाला देश बन गया है। तीन साल में इतने कदम उठाये गये हैं जिससे देश में कारोबार के लिए माहौल में सुधार आया है। उन्होंने कहा कि भारत आसियान देशों के साथ परिवहन एवं डिजिटल दोनों प्रकार की कनेक्टिविटी बढ़ाने में योगदान दे रहा है। विदेश मंत्री ने कहा कि देश में जीएसटी का क्रियान्वयन भारत के साथ-साथ आसियान देशों में भी आर्थिक विकास का कारक बनेगा। उन्होंने कहा कि हाल में सरकार ने आजादी के बाद के सबसे बड़े कर सुधार के रूप में जीएसटी को लागू किया है। इन कदमों से भारत में कारोबार एवं निवेश के नये अवसर पैदा हुए हैं। उन्होंने कहा, “मैं आसियान देशों की कंपनियों को आमंत्रित करती हूं कि वे इस नयी कर प्रणाली के कारण विभिन्न क्षेत्रों में उत्पन्न निवेश के अवसरों का लाभ उठायें।” 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...