तेजस्वी के खिलाफ नीतीश के रुख के साथ है भाजपा : सुशील मोदी

bjp-with-nitish-against-tejaswi-sushil-modi
पटना 16 जुलाई, बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधानमंडल दल के नेता सुशील कुमार मोदी ने उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के इस्तीफे को लेकर सत्तारूढ़ महागठबंधन के बड़े घटक राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और जनता दल यूनाईटेड(जदयू) में जारी खींचतान के बीच आज कहा कि उनकी पार्टी भ्रष्टाचार के खिलाफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के रुख के साथ है। श्री मोदी ने यहां कहा कि भाजपा उप मुख्यमंत्री श्री यादव के भ्रष्टाचार के खिलाफ श्री कुमार की ओर से लिए गए स्टैंड के साथ है। श्री कुमार ने भी इसके पहले अनेक मुद्दों पर भाजपा और केन्द्र सरकार का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि जदयू और राजद के बीच जल्द से जल्द आर-पार का फैसला होना चाहिए। भाजपा नेता ने कहा कि राजनीति और लठैती का फर्क मिटा चुके राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को लग रहा है कि उनकी पार्टी के 80 विधायकों की लाठी के बल पर वह मुख्यमंत्री श्री कुमार को झुका देंगे। वहीं, जदयू को भी लग रहा है कि सरकार गिरने के डर से राजद अध्यक्ष झुक जायेंगे। हालांकि उन्होंने कहा कि सरकार गिरने से दोनों पक्ष डरे हुए हैं इसीलिए उनके बीच शह-मात का खेल चल रहा है। श्री मोदी ने कहा कि उप मुख्यमंत्री श्री यादव के इस्तीफे को लेकर महागठबंधन के दोनों दल राजद और जदयू के बीच जारी गतिरोध का खामियाजा पूरा बिहार भुगत रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य में शासन और प्रशासन के सारे काम ठप्प हैं। 


भाजपा नेता ने कहा कि श्री तेजस्वी यादव को यदि लम्बी राजनीति करनी है तो आरोपमुक्त होने तक उन्हें खुद इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने कहा कि उप मुख्यमंत्री को अपने पिता (लालू प्रसाद यादव) के साये से बाहर निकल कर ऐलान करना चाहिए कि जब वे नासमझ थे तब पिता के कहने पर अनेक कम्पनियों के कागजात पर दस्तख्त कर दिए तथा उनके नाम से जो भी जमीन-मकान गिफ्ट कराये गए हैं उन्हें वह वापस कर देंगे। श्री मोदी ने कहा कि दरअसल तेजस्वी को उनके पिता ने ही अपने भ्रष्टाचार के दलदल में फंसाया है। उन्होंने कहा कि ऐसे में उप मुख्यमंत्री को राजद अध्यक्ष श्री यादव का नहीं बल्कि जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव का अनुसरण करना चाहिए, जिन्होंने हवाला कांड में नाम आने के तत्काल बाद लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। उल्लेखनीय है कि उप मुख्यमंत्री श्री यादव के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो के प्राथमिकी दर्ज करने के बाद जदयू ने विधानमंडल दल की बैठक कर उन्हें जनता के बीच जाकर उनके ऊपर लगे सभी आरोपों का तथ्यपरक जवाब देने का मौका दिया था वहीं, शुक्रवार को राजद अध्यक्ष श्री यादव ने प्राथमिकी को वाजिब कारण नहीं मानते हुये स्पष्ट कर दिया था कि तेजस्वी इस्तीफा नहीं देंगे। 
Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...