सीबीआई ने शुरू की विश्वविद्यालय शिक्षक नियुक्ति घोटाले की जांच

cbi-investigation-bhagalpur-teachers-appointment-scam
भागलपुर 26 जुलाई, केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने आज झारखंड में विश्वविद्यालय शिक्षक नियुक्ति में हुये घोटाले की जांच के लिए तिलकामांझी भागलपुर विशवविद्यालय पहुंचकर कर्मचारियों एवं अधिकारियों से पूछताछ की। आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि रांची से आई सीबीआई की दो सदस्यीय टीम ने तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय पहुंचकर रजिस्ट्रार डॉ. मोहन मिश्रा से मुलाकात की और इस मामले से जुड़े विशवविद्यालय के छह शिक्षकों के बारे मे विस्तृत जानकारी ली। सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने विश्वविद्यालय के छह शिक्षकों को सशरीर उपस्थित होने और इस मामले में अपना पक्ष रखने के लिए नोटिस जारी करते हुए 20 अगस्त को रांची स्थित कार्यालय में तलब किया है। गौरतलब है कि झारखंड में विश्वविद्यालय शिक्षकों की नियुक्ति के लिए झारखंड लोक सेवा आयोग ने वर्ष 2006 में परीक्षा और उसके बाद साक्षात्कार आयोजित की थी। इसके आधार पर वर्ष 2008 में जारी परिणाम में सफल हुये उम्मीदवारों की शिक्षक के पद पर नियुक्ति हुई थी। इस नियुक्ति पैनल में तिलकामांझी भागलपुर विशवविद्यालय के तीस शिक्षक शामिल थे। इनपर साक्षात्कार में आयोग के निर्देशो का उल्लंघन कर अंक देने का आरोप लगा था। बाद में इस मामले में हुई धांधली उजागर होने और मामले के जोर पकड़ने के कारण इसकी जांच की जिम्मेवारी सीबीआई को सौंपी गई। सीबीआई ने इस मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। 

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...