मधुबनी : मुख्यमंत्री करेंगे अयाची मिश्र की प्रतिमा का अनावरण

cm-will-inaugrate-ayachi-statue-madhubani
मिथिला के महान विभूति पं. अयाची मिश्र की प्रतिमा का सरिसब गांव में आगामी 9 सितंबर को अनावरण होगा। प्रतिमा का अनावरण सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे। अयाची डीह विकास समिति की ओर से प्रतिमा का अनावरण व न्याय दर्शन विषय पर आयोजित सेमिनार में देश भर के मूर्धन्य विद्वानों को बुलाया गया है। ये बातें मंगलवार को आयोजित अयाची डीह समिति की बैठक में कही गयी। बैठक में समिति के अध्यक्ष पूर्व प्रवाचक डॉ. किशोर नाथ झा ने कहा कि अयाची मिश्र के पाण्डित्य को उनके पुत्र व शिष्य शंकर मिश्र की कृतियों में देखा जा सकता है। उन्होंने बताया कि न्याय दर्शन व सामाजिक विषयों पर छह सत्रों में आयोजित सेमिनार में देश भर के विद्वान भाग लेंगे। आयोजन समिति के संरक्षक व मिथिलांचल चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष नवीन जायसवाल ने कहा कि यह गौरव की बात है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समारोह का उद्घाटन व मूर्ति का अनावरण करेंगे। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी मुख्य अतिथि होंगे। समिति के उपाध्यक्ष डॉ. जगदीश मिश्र ने कहा कि भवनाथ मिश्र प्रसिद्ध अयाची भौतिक सुख-सुविधाओं का परित्याग कर पठन-पाठन के व्यसनी बन अद्भूत विद्यापीठ का निर्माण कराया। वे कहीं भी याचना नहीं किए। चेतना समिति के संरक्षक उमेश मिश्र ने कहा कि इस आयोजन के द्वारा मिथिला की प्राचीन गौरवशाली परंपरा से सामान्य जनों तथा देश के अन्य भागों में प्रबुद्ध जनों को मिथिला की बौद्धिक संपदा से अवगत कराया जाएगा। अयाची मिश्र के वंशज जीवनाथ मिश्र ने कहा कि चौपाड़ि शैली के प्रतिष्ठापक अयाची मिश्र नि:शुल्क शिक्षा व्यवस्था के आग्रही थे। वे एक शिष्य को शिक्षित कर उन्हें दस छात्रों को शिक्षित करने का दायित्व सौंपते थे। पुन: उनके दस शिष्य सौ छात्रों को दीक्षित कर सारे देश में ज्ञान परंपरा का विस्तार करते थे। संचालन अजित आजाद ने किया। बैठक को अयाची डीह विकास समिति के सचिव डॉ. विद्यानंद झा, समिति के संयोजक व मुखिया राम बहादुर चौधरी, संयुक्त सचिव उदय कुमार झा, डॉ. नीरजा रेणु, प्रो. असर्फी कामत, अमल कुमार झा, सतीश साजन, अनुराग मिश्र, मो. निजामुद्दीन आदि ने भी संबोधित किया।

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...