बिहार : भाकपा का तीन दिवसीय प्रदर्शन और जेल भरो अभियान

cpi-3days-protest
पटना, 24 जुलाई। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की राष्ट्रीय परिषद के आह्वान पर आज सूबे के विभिन्न समाहरणालयों पर कृषि जनित समस्याओं और किसानों के ज्वलंत सवालों को लेकर राज्यव्यापी तीन दिवसीय प्रदर्षन और जेल भरो आंदोलन शुरू किया गया जिसमें हजारों भाकपा नेताओं और कार्यकत्र्ताओ के गिरफ्तार होने की खबर है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिव सत्य नारायण सिंह ने आज के आंदोलन की जानकारी देते हुए बताया है कि पटना में 661, औरंगाबाद में 150, जहानाबाद में 100 महराजगंज अनुमंडल पर 265, कटिहार में 1500, शेखपुरा में 300 लोगों की गिरफ्तारी हुई है। अन्य जिलाओं से गिरफ्तारी की खबरें भाकपा राज्य मुख्यालय को लगातार आ रही है। प्रेस विज्ञप्ति में जानकारी दी गयी है कि पटना में जेल भरों आंदोलन का नेतृत्व भाकपा राज्य सचिव सत्य नारायण सिंह, जिला सचिव रामलाला सिंह वगैरह ने किया। कटिहार में भाकपा राज्य कार्यकारिणी के विजय नारायण मिश्र, किसान सभा के अषोक प्रसाद सिंह, वगैरह, जहानाबाद में भाकपा राज्य सचिवमंडल सदस्य अखिलेष कुमार, गया के बथानी अनुमंडल में जानकी पासवान राज्य सचिवमंडल सदस्य, शेखपुरा में राज्य कार्यकारिणी के मोहन प्रसाद और जिला सचिव प्रभात कुमार पाण्डेय, ने जेल भरो आंदोलन का नेतृत्व किया । भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी राज्य सचिव ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार किसानों की मांगों को पूरा करने के बजाय आंदोलन को दबाने के लिए आंदोलनकारियों पर गोली चलाकर मौत के मुंह में ढकेल रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कर्ज माफी का वादा कर उसे पूरा नहीं किया जिससे किसानों मंे आक्रोष हैं। भाकपा राज्य सचिव ने कहा कि 35 किसान रोज आत्महत्या कर रहे हैं। इसका कारण है कर्ज माफ नहीं होना और फसल का लाभकारी मूल्य न मिलना।  उन्होंने बताया कि 24, 25, 26 जुलाई को यह आंदोलन सूबे के सभी समाहरणालयों पर आयोजित होगा जिसमें लाखों की तादाद में किसान, मजदूर शामिल होंगे। अंत में सत्य नारायण सिंह ने मांग की है कि किसान आंदोलन को कुचलने के बजाय कृषि संकट दूर करें ताकि किसानों में खुषहाली लायी जा सके।     

Share on Google Plus

About आर्यावर्त डेस्क

एक टिप्पणी भेजें
loading...